रांची : रांची विश्वविद्यालय में बीते वर्ष की तुलना में इस वर्ष 25 प्रतिशत कम नामांकन हुआ है। बीते वर्ष अंगीभूत कॉलेजों के यूजी व पीजी के सामान्य व प्रोफेशनल कोर्स में कुल 37016 नामांकन हुआ था जबकि इस वर्ष 24000 ही हुआ है। अब केवल दो दिन और नामांकन होगा। ये बातें शुक्रवार को प्रभारी कुलपति डॉ. कामिनी कुमार के साथ हुई प्राचार्यो की बैठक में निकल कर सामने आई। कुलपति ने कॉलेजों से कहा कि जिस विभाग में सीटें खाली हैं वहां ऑफलाइन लेकर सीटें भरें। नामांकन के साथ सभी विद्यार्थियों का रजिस्ट्रेशन भी साथ करें। बैठक में डीएसडब्ल्यू डॉ. पीके वर्मा, रजिस्ट्रार डॉ. अमर कुमार चौधरी सहित सभी अंगीभूत व एफिलिएटेड कॉलेजों के प्राचार्य शामिल थे। सेकेंड शिफ्ट के बाद भी घट गए छात्र

नामांकन बढ़ाने को लेकर कॉलेजों में सेकेंड शिफ्ट शुरू हुआ, लेकिन इस प्रयास का परिणाम उल्टा हो गया। नामांकन बढ़ने की जगह घट गया। इस बार चांसलर पोर्टल के माध्यम से नामांकन की प्रक्रिया शुरू की गई। फार्म जमा करने की ही तिथि चार बार बढ़ाई गई थी। नामांकन विलंब से शुरू हुआ। ऐसे में हजारों विद्यार्थी नामांकन के लिए दूसरे विश्वविद्यालय चले गए। बिना आवेदन दूसरे विषय में नामांकन

प्रभारी वीसी ने प्राचार्यो से कहा कि कोई विद्यार्थी जिस विषय में ऑनर्स के लिए आवेदन किया है और उसकी सीटें भर गई है, अब वह दूसरे विषय में जिसमें सीटें खाली है उसमें ऑनर्स लेना चाहता है तो नामांकन ले लें। लेकिन विद्यार्थी उस विषय में ऑनर्स के लिए योग्य हो। प्राचार्यो से 12 सितंबर तक इलेक्ट्रोल रोल की हार्ड व शॉफ्ट कॉपी डीएसडब्ल्यू कार्यालय में जमा करने को कहा। सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के बाद मूल्यांकन

बैठक में सभी कॉलेजों को जल्द नैक मूल्यांकन कराने को कहा गया। बीएड कॉलेजों से कहा गया कि वे सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के आलोक में मूल्यांकन संबंधी कार्रवाई करें। क्योंकि एनसीटीइ ने बीएड कॉलेजों को क्वालिटी काउंसिल आफ इंडिया (क्यूसीआइ) से मूल्यांकन कराने को कहा था। यह मामला अभी सुप्रीम कोर्ट में है। मांडर कॉलेज में 25 व 26 सितंबर को नैक की टीम आ रही है। अनुबंध शिक्षकों को मिलेगा मानदेय

सभी कॉलेजों से कहा गया कि उनके यहां अनुबंध पर नियुक्त शिक्षकों के मानदेय भुगतान के लिए डिमांड बनाकर फाइनेंस आफिसर या रजिस्ट्रार को दें उसका भुगतान किया जाएगा। शिक्षकों की एप्वाइंटमेंट लेटर, रुटीन व वर्ग की जानकारी देने को कहा गया है। बीएड कॉलेजों में होगा फैकल्टी एक्सचेंज

सभी 29 बीएड कॉलेजों में दुर्गा पूजा की छुट्टी के बाद राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन होगा। इसके लिए आर्यभट्ट सभागार उपलब्ध होगा। सेमिनार में जर्नल का भी प्रकाशन होगा जिसमें बीएड शिक्षकों का शोध लेख प्रकाशित होगें। बीएड कॉलेजों को फैकल्टी एक्सचेंज प्रोग्राम शुरु करने का निर्देश दिया गया। सभी एफिलिएटेड बीएड कॉलेजों में सत्र 2017-19 व 2018-20 में नामांकित छात्रों की रिपोर्ट जमा करने को कहा गया। इसके लिए भारती कॉलेज आफ एजुकेशन के प्राचार्य उपेंद्र उपाध्याय को अधिग्रहित किया गया। संबद्धता देते हैं, चुनाव भी कराएं

बैठक में प्रभारी वीसी ने सभी अल्पसंख्यक व संबद्धता प्राप्त कॉलेजों से कहा कि कि वे छात्र संघ चुनाव में भाग लें। हम आपको संबद्धता व डिग्री देते हैं। आपकी सारी परीक्षा आयोजित करवाते हैं इसलिए आप भी चुनाव में जरूर भाग लें। इससे छात्र-छात्राओं को फायदा होगा।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021