रांची, राज्य ब्यूरो। राज्य के सरकारी स्कूलों को अब छात्र संख्या के आधार पर अनुदान मिलेगा। केंद्र सरकार ने समग्र शिक्षा अभियान के तहत यह निर्देश दिया है। इसके लिए स्कूलों को मिलने वाले अनुदान की दस फीसद राशि स्वच्छता कार्यक्रम पर खर्च होगी। झारखंड शिक्षा परियोजना परिषद ने इसे लेकर सभी जिलों को दिशा-निर्देश जारी कर दिया।

जारी दिशा-निर्देश के अनुसार, स्कूलों को अनुदान की राशि सीधे विद्यालय प्रबंधन समिति के बैंक खाते में जाएगी। अनुदान देने में वैसे स्कूलों को प्राथमिकता दी जाएगी।

जिनमें कक्षा एक से आठ तथा नौ से बारह में नामांकन 250 से अधिक हो। दूसरी प्राथमिकता में वैसे स्कूल होंगे जिनमें अन्य स्कूलों का विलय किया गया है। इसके बाद शेष स्कूलों को अनुदान में प्राथमिकता दी जाएगी।

जारी दिशा-निर्देश में कहा गया है कि अनुदान की राशि खर्च करने में किसी प्रकार की गड़बड़ी होने पर प्रभारी शिक्षक तथा विद्यालय प्रबंधन समिति के अध्यक्ष व सदस्य जिम्मेदार होंगे।

खरीदना होगा एक अखबार : सभी स्कूलों को अनुदान की राशि से कम से कम एक अखबार खरीदना होगा। स्कूलों में होनेवाली एसेंबली में बच्चे अखबार पढ़कर सुनाएंगे। पुस्तकालय, लैब आदि में जरूरी चीजें इसी राशि से खरीदी जाएगी। स्कूल प्रबंधन को कहा गया है कि वे बच्चों में अखबार पढ़ने और उससे सीखने की आदत विकसित करें। साथ ही छात्र-छात्राओं के सर्वागीण विकास के लिए उन्हें पाठयक्रम से इतर अन्यान्य गतिविधियों से जोड़ें।

ऐसे मिलेगा अनुदान

नामांकन संख्या--अनुदान की राशि (रुपये में)

01-15 - 12,000

16-100 - 25,000

101-250 - 50,000

251-1000 - 75,000

1000 से अधिक - 1,00,000

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021