जागरण संवाददाता, रांची : जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में विधायकों द्वारा उठाई गई समस्याओं पर पदाधिकारियों द्वारा संतोषजनक जवाब नहीं दिए जाने को गंभीरता से लेते हुए सासद रामटहल चौधरी ने कहा कि केवल खानापूर्ति के लिए बैठक में नहीं आएं। जानकारी भी लेकर आएं, ताकि वास्तविक स्थिति से लोगों को अवगत कराया जा सके। बैठक में अनुपस्थित रहे पदाधिकारियों से स्पष्टीकरण पूछने का निर्देश दिया। इस पर उन्होंने नाराजगी जाहिर की।

बैठक में उन्होंने संबंधित पदाधिकारियों को ओरमाझी व सिल्ली की सड़कों पर बने गहरे गढ्डों को तत्काल ठीक कराये, ताकि दुर्घटना न हो। बैठक में हटिया विधायक नवीन जायसवाल ने कहा कि रातु, नगड़ी की स्थिति काफी खराब है। नगड़ी में सड़क निर्माण का कार्य बहुत धीमी है। दोनो तरफ सड़क निर्माण का कार्य एक साथ चल रहा है जिससे आवागमन में लोगों को परेशानी होती है। उन्होंने परियोजना निदेशक एनएचएआइ को 24 घटे के भीतर निर्माणाधीन सड़कों की गुणवत्ता की जाच कर सासद को देने का निर्देश दिया। उन्होंने जयसवाल ने बताया कि सड़क निर्माण के लिए रैयतों से अधिग्रहण की जाने वाली भूमि के मुआवजा राशि पर भी पुर्नविचार करने की आवश्यकता है। सरकार द्वारा बाजार दर से कम राशि दिये जाने के कारण ही रैयत भूमि नहीं देना चाहते हैं। मांडर विधायक गंगोत्री कुजूर ने भी ईटकी, बेड़ो व बीजूपाड़ा की सड़कों की जर्जर स्थिति की तरफ ध्यान आकृष्ट किया। बैठक में विधायक, यातायात एसपीए एनएचएआई, पीडब्लयूडी के पदाधिकारी, अपर जिला दंडाधिकारी, विधि व्यवस्था, जिला परिवहन पदाधिकारी सहित अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021