रांची : झारखंड में 1 लाख 43 हजार 379 मतदाताओं के नाम मतदाता सूची से हटाए गए हैं। इनमें से 35,521 वोटरों के नाम ऐसे थे जिनके नाम दो-दो जगहों पर थे। बाकी नाम वोटरों के आवेदन के आधार पर या फर्जी या मृत वोटरों के नाम हटाए गए हैं। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी एल ख्यांग्ते ने सोमवार को यह जानकारी मीडिया को दी। उन्होंने बताया कि शनिवार को मतदाता सूची के ड्राफ्ट का प्रकाशन कर दिया गया है। शनिवार से ही शुरू हुए संक्षिप्त मतदाता पुनरीक्षण कार्यक्रम के तहत अब इस पर 31 अक्टूबर तक मतदाताओं से दावे और आपत्तियां मांगी गई हैं। इसमें नए वोटर अपना नाम भी शामिल करा सकते हैं।

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी मतदाता सूची पुनरीक्षण कार्यक्रम की जानकारी देते हुए कहा कि बूथ लेवल ऑफिसर्स वोटर स्लीप लेकर घर-घर जाएंगे। इसमें कोई त्रुटि पाए जाने पर स्लीप के पीछे अंकित फार्म में भरकर त्रुटि के निराकरण को लेकर तीन दिनों के भीतर बीएलओ को लौटाएंगे। दिव्यांगों के लिए भी बीएलओ घर-घर जाएंगे। उनके अनुसार दावों-आपत्तियों के निष्पादन के बाद 4 जनवरी 2019 को मतदाता सूची का अंतिम प्रकाशन किया जाएगा। जिसके आधार पर ही आगामी लोकसभा तथा विधानसभा चुनाव होंगे।

उन्होंने बताया कि चुनाव आयोग ने वोटरों की संख्या अधिक होने पर 40 नए बूथ बनाए हैं जबकि 221 मतदान केंद्रों के भवन बदले गए हैं। साढ़े छह हजार स्कूलों के दूसरे स्कूलों में विलय होने से उनके बंद होने के सवाल पर उन्होंने कहा कि उपायुक्त सह जिला निर्वाचन पदाधिकारियों ने निश्चित रूप से इसका ध्यान रखा होगा। हालांकि यह भी कहा कि बंद स्कूलों के भवन का भी उपयोग मतदान केंद्र के रूप में किया जा सकता है।

11.61 लाख वोटर 18-19 आयु वर्ग के

शनिवार को प्रकाशित मतदाता सूची के ड्राफ्ट के अनुसार, 18-19 वर्ष आयु वर्ग के नए मतदाताओं की कुल संख्या 11,61,254 है। एक जनवरी 2018 को इनकी संख्या 11,44,916 थी। ड्राफ्ट के अनुसार, कुल मतदाताओं की संख्या 2,17,63,802 है। कुल मतदाताओं में जेंडर रेशियो 909 है। अर्थात 1000 पुरुष मतदाताओं में महिला मतदाताओं की संख्या 909 है।

मतदाता सूची पुनरीक्षण में कब क्या

एक सितंबर से 31 अक्टूबर : दावे और आपत्तियों को लेकर फार्म भरे जाएंगे।

9 तथा 23 सितंबर : ग्राम सभा, स्थानीय निकायों में मतदाता सूची में नामों का सत्यापन।

16 सितंबर तथा 7 अक्टूबर : राजनीतिक दलों के बूथ लेवल एजेंट बीएलओ को आपत्तियां देंगे।

13-14 अक्टूबर : बीएलओ दिव्यांगों के घर-घर जाकर आपत्तियां लेंगे।

30 नवंबर तक : सभी आपत्तियों व दावों का निष्पादन किया जाएगा।

4 जनवरी 2019 : मतदाता सूची का अंतिम प्रकाशन।

---

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021