जागरण संवाददाता, रांची : महंगे होने की दौड़ में चीनी सबसे आगे निकल चुकी है। महज 10 से 12 दिनों में ही चीनी की कीमत आसमान छूने लगी है। अभी कुछ दिन पहले ही चीनी 32 रुपये प्रतिकिलो की दर से बिक रही थी। लेकिन, वर्तमान में चीनी की कीमत 40 रुपये प्रतिकिलो हो चुकी है। इसकी कीमत में लगी आग से आम लोग परेशान हो चुके हैं। अचानक आई बढ़ोतरी की वजह से चीनी की बिक्री पर भी असर पड़ा है। केवल ग्राहक ही नहीं, बल्कि शहर के दुकानदार भी कीमतों के उछाल को ले कर अपना सिर पीट रहे हैं।

ऐसे बढ़ीं कीमतें :

यूं तो चीनी के अलावा भी बाजार में कई चीजें महंगी हुई है। लेकिन, चीनी की कीमत की बढ़ोत्तरी रह रह कर हुई है। कई दिनों से राजधानी के बाजार में चीनी 32 रुपये प्रतिकिलो की दर से बिक रही थी। पहले दो रुपये की बढ़ोतरी से कीमत 34 रुपये हुई। फिर एक सप्ताह के भीतर ही चीनी की कीमत 36 रुपये पहुंच गई। लेकिन, इसके बाद भी कीमत का बढ़ना रुका नहीं। चार रुपये की बढ़ोतरी के बाद आज चीनी की कीमत 40 रुपये हो चुकी है।

चीनी के दाम अभी राहत नहीं देने वाले हैं। जानकारों की माने तो कीमतों में अभी और बढ़ोतरी होने की संभावना है। बढ़ी हुई कीमतों का कारण सरकार की गलत नीतियों को बताया जा रहा है। बाहरी देशों से चीनी के आयात के दौरान एक्साइज ड्यूटी इस बढ़ोत्तरी का महत्वपूर्ण कारण है। यह स्थिति बनी रही तो चीनी की कीमत में और भी इजाफा हो सकता है।

इनकी भी बढ़ी हैं कीमतें :

सामाग्री कीमत पहले कीमत अब

सरसों तेल 96 98

अखरोट 850 1150

मखाना 700 1000

आल्मंड 625 725

किशमिश 200 280

'कीमतों पर किसी का नियंत्रण नहीं रहा। सरकार की नीतियों के कारण चीनी महंगी हुई है। कीमतें और भी बढ़ सकती हैं।

-महेंद्र ठक्कर, व्यापारी

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021