रांची : शिक्षा मंत्री डॉ. नीरा यादव ने कहा है कि इच्छाशक्ति से ही पर्यावरण को सुरक्षित रखा जा सकता है। इसलिए राज्य के सभी जिला शिक्षा पदाधिकारियों को सरकारी विद्यालयों में विद्यार्थियों से पौधरोपण कराने का निर्देश दिया गया है। इन जगहों पर विद्यार्थियों के नाम का बोर्ड भी लगाया जाएगा ताकि उनमें उन पौधों के प्रति प्यार और देखरेख की भावना पैदा हो। साथ ही नवगठित विनोद बिहारी महतो विवि में पर्यावरण का अलग विभाग खोला गया है। नीरा यादव बुधवार को ऑड्रे हाउस में युगातर भारती द्वारा आयोजित पर्यावरण मेला में राज्य भर के स्कूली बच्चों के बीच आयोजित निबंध व पेंटिंग प्रतियोगिता के विजेताओं के बीच पुरस्कार वितरण कार्यक्रम में बोल रही थीं।

उन्होंने कहा कि पौधरोपण कभी भी जंगल का विकल्प नहीं हो सकता। पेड़ लगाकर हमें मानसिक संतुष्टि भले मिल जाए लेकिन वह जंगल की जैवविविधता की भरपाई नहीं कर सकता है। उन्होंने बताया कि हाल ही में उन्हें सिंगापुर जाने का मौका मिला। वहा देखा कि सड़क चौड़ीकरण के लिए पेड़ों को काटा नहीं जाता बल्कि उन्हें दूसरे स्थान पर लगा दिया जाता है। हमारे यहा सौ साल पुराने पेड़ों को भी काट दिया जाता है। झारखंड में पहाड़ों के गायब होने की खबर आती है। चिड़ियों की चहचहाहट लुप्त हो रही है। जब तक हम जागरूक नहीं होंगे तब तक पर्यावरण में सुधार नहीं आएगा।

दामोदर बचाओ आदोलन के अध्यक्ष एवं मंत्री सरयू राय ने कहा कि धरती को न कोई विशेषज्ञ और न ही पढ़े लिखे लोग ठीक कर सकते हैं। सभी लोग अपनी आदतों में सुधार करें तो ही पर्यावरण की स्थिति में सुधार हो सकता है। पर्यावरण की सोच हर व्यक्ति की सोच होनी चाहिए। धरती के प्रति कर्तव्य का निर्वाह करना हम सभी का फर्ज है। कार्यक्रम को नदी विशेषज्ञ डॉ. दिनेश मिश्रा ने भी संबोधित किया। इस समारोह में शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव एपी सिंह, तकनीकी शिक्षा एवं कौशल विकास विभाग के सचिव अजय कुमार सिंह, खाद्य आपूर्ति सचिव डॉ. अमिताभ कौशल एवं राची विश्वविद्यालय के कुलपति रमेश पाडेय भी उपस्थित थे।

विद्यार्थियों को किया सम्मानित

आड्रे हाउस में आयोजित पर्यावरण मेले के दूसरे दिन स्कूली बच्चों के बीच राज्य स्तरीय पेंटिंग एवं निबंध प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। प्रतियोगिता में पेंटिंग की थीम पृथ्वी, पर्यावरण एवं प्रकृति व निबंध का विषय झारखंड में दम तोड़ती नदियों पर रखा गया था। निबंध प्रतियोगिता में लोहरदगा की उर्सलाइन हाई स्कूल की कक्षा आठ की छात्रा नौरीन नूर ने प्रथम स्थान प्राप्त किया। दूसरे स्थान पर सिमडेगा के राजकीय उत्क्रमित उच्च विद्यालय, कोरोमिया की छात्रा प्रियंका कुमारी व चतरा के विद्या निकेतन हाई स्कूल की छात्रा फरहीन निशा ने तीसरा स्थान प्राप्त किया। वहीं, इस प्रतियोगिता में निजी स्कूलों के बच्चों ने भी भाग लिया था। इसमें प्रथम स्थान रांची के टेंडर हार्ट सीनियर सेकेंडरी स्कूल के वेदांत को मिला। दूसरे स्थान पर डीपीएस रांची के आकाश कुमार व जेवीएम स्कूल के राजश्री राजेश कुमार को तीसरा स्थान मिला।

पर्यावरण मेले में आज

गुरुवार को ठोस कचरा प्रबंधन विषय पर सेमिनार का आयोजन किया गया। जिसके मुख्य अतिथि नगर विकास मंत्री सीपी सिंह होंगे। विशिष्ट अतिथि नगर विकास विभाग के अपर मुख्य सचिव अरुण कुमार सिंह होंगे। इस कार्यक्रम में राची की मेयर आशा लकड़ा एवं उप मेयर संजीव विजयवर्गीय भी शामिल होंगे।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप