जागरण संवाददाता, रांची : पानी की समस्या से दो दिनो से जूझ रहे लोगों ने गुदड़ी चौक को जाम कर दिया है वही मेन रोड़ के अंजुमन प्लाजा के पास पानी की किल्लत के कारण महिलाएं भी सड़क पर उतरी हैं। रमजान में पानी नहीं मिलने से लोगों को काफी समस्या का सामना करना पड़ रहा है। गौरतलब है मौसम का तेवर बदलते ही रविवार रात से शहर के लोग बिजली व पानी के लिए जूझ रहे हैं। 12 से 18 घंटे तक बिजली कट झेलने के बाद भी निजात नहीं मिल पाया है। बिजली का आना-जाना जारी है। बिजली की समस्या ने लगातार जलसंकट झेल रहे लोगों की परेशानी और बढ़ा दी है। रुक्का व गोंदा डैम में बिजली बाधित रहने से जलापूर्ति पूरी तरह से प्रभावित हो रही है।

मंगलवार को भी जलसंकट जारी रहने के आसार :

शहर के दो प्रमुख जलस्रोत रुक्का और गोंदा डैम की बिजली आपूर्ति बाधित रहने की वजह से शहर में जलसंकट काफी गहरा हो गया है। बूटी जलागार को रविवार शाम से सोमवार देर रात तक रुक्का डैम से पानी नहीं मिल पाया है। इससे मंगलवार को भी पानी किल्लत बरकरार रहने की संभावना है।

रुक्का डैम में यदि सोमवार रात 12 बजे के बाद बिजली आई भी तो भी बूटी तक पानी पहुंचने में करीब तीन घंटे का समय लगेगा। जलागार के पूरी तरह भरने के बाद अन्य टंकियों में पानी की सप्लाई की जाएगी। पुन: उनके भरने के बाद शहर के पाइप को पानी मिल सकेगा। रात में बिजली मिलने के बाद भी केवल एक ही क्षेत्र को पानी मिल सकेगा।

इससे पूर्व रुक्का डैम में रविवार रात 10 बजे के बाद से सोमवार देर रात तक बिजली की सप्लाई बाधित रही। बिजली नहीं मिलने से करीब 24 घंटे तक रुक्का प्लांट में मशीनें नहीं चलीं। इसके पहले भी रविवार को ही दोपहर दो बजे से रात 8:30 बजे तक रुक्का में बिजली गुल थी। बूटी अभियंता सुनील कुमार ने बताया कि दिन भर पानी नहीं मिलने की वजह से जलागार सूखा हुआ है। सोमवार को पानी मिलने के बाद पहले जलागार को भरा जाएगा और रात में पानी की सप्लाई शुरु हो पाएगी। लेकिन देर रात तक रुक्का प्लांट में बिजली की समस्या जारी रही।

12 से 18 घंटे तक लगातार नहीं रही बिजली :

राजधानी के आधे हिस्से में करीब 12 घंटे के लिए बिजली आपूर्ति बाधित रही। इसके अलावा कई क्षेत्रों में 18 घंटे तक बिजली आपूर्ति नहीं की गई थी। रविवार रात को तेज बारिश और आंधी की वजह से देर रात करीब दो घंटे के लिए शहर ब्लैक आउट रहा। बारिश के थमने के बाद कुछ क्षेत्रों में बिजली लौटी लेकिन शहर का 70 फीसद इलाका अंधेरे में डूबा रहा। सोमवार को तकरीबन दोपहर से मोहल्ला दर मोहल्ला बिजली लौटी।

बारिश के दौरान क्लब रोड, स्टेशन रोड, कडरु रोड, बरियातू रोड, हाईकोर्ट के निकट, बूटी मोड़ सहित दर्जनों स्थानों पर दर्जनों पेड़ गिरे। बिजली के कई पोल और तार के टूटने से प्रमुख सब स्टेशनों से विद्युत आपूर्ति ठप हो गई। इंसुलेटर पंक्चर की वजह से परेशानी बढ़ी हुई है। वज्रपात की वजह से पोल में लगे मिट्टी के इंसुलेटर में दरार आ जाती है। पता नहीं चलने की स्थिति में बार बार ब्रेकडाउन हो जाता है।

ऊर्जा निगम द्वारा रात में ही समस्याओं को ढूंढ कर ठीक करने का प्रयास किया गया। सोमवार को भी मरम्मत कार्य जारी रहा। इस दौरान अन्य संबंधित क्षेत्रों की भी बिजली प्रभावित रही।

बरियातू, अरगोड़ा, नामकुम, में नहीं रही 18 घंटे बिजली :

बिजली कट का सबसे ज्यादा प्रभावित बरियातू, अरगोड़ा और नामकुम रहे। बरियातू में रविवार रात के करीब साढ़े दस बजे गुल हुई बिजली सोमवार शाम करीब चार बजे आई। नामकुम के क्षेत्र में रात 10:30 बजे के बाद सोमवार सुबह 8 बजे बिजली आई। दोबारा 9 बजे बिजली गुल हुई और दोपहर 12 बजे तक नहीं आई। इसके बाद दोपहर दो बजे से रात 8 बजे तक पूरे क्षेत्र में बिजली आपूर्ति बाधित रही। अरगोड़ा में रात भर गुल रहने के बाद सुबह 9 बजे आधे घंटे के बाद बिजली आई और दोबारा 10 बजे से दिन भर के लिए गायब हो गई।

रातू रोड में पूरे 13 घंटे बाद सोमवार सुबह 11 बजे बिजली आई। 12 बजे के बाद दोबारा दो घंटे के लिए गायब हो गई। लालपुर, थड़पखना मेन रोड के क्षेत्र में भी सुबह 11 बजे के करीब बिजली आई इसके बाद बिजली का आना-जाना लगा रहा।

रातू रोड को भी नहीं मिला पानी :

रातू रोड के क्षेत्र में रविवार को सुबह 5:30 बजे पानी की सप्लाई की गई थी। इसके बाद 36 घंटे के हिसाब से सोमवार को शाम 6 बजे पानी की सप्लाई होनी थी। जलागार में पानी नहीं होने की वजह से यहां सोमवार को पानी की सप्लाई नहीं हुई। अभियंता द्वारा कहा गया कि मंगलवार को रातू रोड के क्षेत्र में पानी की सप्लाई की जाएगी। लेकिन इसकी उम्मीद नहीं की जा सकती।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021