रांची : कांग्रेस ने केंद्र में मोदी सरकार के चार वर्ष पूरे होने पर भाजपा पर आरोपों की झड़ी लगा दी। चार साल के शासन पर कांग्रेस ने भाजपा से 40 सवाल पूछे हैं और मोदी सरकार के तमाम वादों को झूठा साबित करने की कोशिश की। इस दौरान प्रदेश अध्यक्ष डॉ. अजय कुमार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री रघुवर दास पर तल्ख और आपत्तिजनक टिप्पणी की। कहा, इनके पास जादू घर का वह शीशा है जिसमें चेहरा कई गुना बड़ा हो जाता है। 56 इंच वहीं दिखता है, वास्तविकता में है नहीं। इस दौरान भाजपा नेताओं को ढोंगी और बेशर्म भी करार दिया।

डॉ. अजय कुमार यहीं नहीं रुके। उन्होंने कहा कि लाल-लाल आंख दिखानेवाले मोदी और भाजपा को देशभक्ति, तिरंगे और जन-गण-मन से कोई लेना-देना नहीं है। ये इसका उपयोग सिर्फ सत्ता पाने के लिए करते हैं। कहा, इनके मुख्यमंत्री रघुवर दास और पूरी भाजपा को एक अजीब बीमारी है। अपना सीना 56 इंच का दिखाने की लेकिन असल में इनके कमरे में एक ऐसा आइना है, जहा पहुंचते ही इन्हें लगने लगता है कि इनका सीना 56 इंच का है। उसी भ्रम में ये सभी जगह यही बात बोलते रहते हैं। बाद में प्रेस कांफ्रेंस में विधायक दल के नेता आलमगीर आलम, रामेश्वर उराव, प्रदीप तुलस्यान और राजीव रंजन प्रसाद उपस्थित थे।

---------

सरकारी खर्चे पर इलाज कराएं रघुवर, जनता वापस मजदूरी करने टाटा भेज देगी :

प्रदेश अध्यक्ष डॉ. अजय कुमार ने कहा कि जिस प्रकार रघुवर बयान दे रहे हैं उससे लगता है कि मुख्यमंत्री रघुवर दास का मानसिक संतुलन बिगड़ गया है। इसलिए वह विपक्ष के बारे में रोज आपत्तिजनक बयान दे रहे हैं। उनको अपनी भाषा पर नियंत्रण नहीं है। उन्हें इस बीमारी का सरकारी खर्च पर इलाज कराना चाहिए। यदि देश में इलाज नहीं हो तो वह विदेश चले जाएं। उन्होंने साथ ही जोड़ा कि अब ऐसा लगता है कि जनता एक बार फिर रघुवर को वापस टाटा में मजदूरी करने के लिए भेज देगी।

------

चुनाव प्रभावित करने आए थे पीएम :

डॉ. अजय ने आरोप लगाया कि सरकारी कार्यक्रम के बहाने गोमिया और सिल्ली में उपचुनाव को प्रभावित करने के लिए प्रधानमंत्री आए थे। झारखंड में विपक्षी एकता और सीमा-बबीता की लोकप्रियता ने प्रधानमंत्री को मजबूर कर दिया कि उन्हें सिंदरी में आकर कार्यक्रम करना पड़ा। लिट्टीपाड़ा उपचुनाव में भी वह आए थे। दरअसल, रघुवर दास फेल हो गए हैं इसलिए प्रधानमंत्री को आना पड़ता है।

-------------

कांग्रेस ने पूछे 40 सवाल :

केंद्र में सरकार के चार साल पूरे होने पर कांग्रेस ने 40 सवाल पूछे हैं। पूछा है कि किसानों की कर्जमाफी से क्यों इनकार किया गया? किस फसल के न्यूनतम समर्थन मूल्य में लागत पर 50 फीसद मुनाफा दिया? हर साल मिलनेवाली दो करोड़ नौकरिया कहा गईं? हर भारतीय के खाते में कब आएंगे 15 लाख रुपये? बैंक लूटकर भाग रहे भगोड़ों पर मोदी मौन क्यों हैं?

-------------

कांग्रेस ने मनाया विश्वासघात दिवस, राजभवन पर धरना

रांची : झारखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने चार साल की केंद्र सरकार के खिलाफ राजभवन के समक्ष धरना दिया और इसे विश्वासघात दिवस का नाम दिया। धरना में प्रदेश अध्यक्ष डॉ. अजय स्वयं मौजूद थे। विधायक दल के नेता आलमगीर आलम समेत कई नेता यहां दिखे। धरना का संचालन प्रदेश काग्रेस प्रवक्ता राजीव रंजन प्रसाद ने किया।

यहां लोगों को संबोधित करते हुए डा. अजय ने नारा दिया-'चार साल, देश बदहाल'। यह बात देश के हर नागरिक के दिल में बस गया है। देश का हर नागरिक आज अपने आपको ठगा हुआ महसूस कर रहा है। जुमलों और वादों की झड़ी लगाकर राजनैतिक स्वार्थ पूर्ति हो रही है। बेरोजगारी चरम पर है, दो करोड़ लोगों को रोजगार देने की बात कर मोदी जी की सरकार ने सत्ता तो बना ली, मगर युवाओं को बेरोजगार छोड़ दिया। आकड़ों की चर्चा करें तो सिर्फ 4.16 लाख लोगों को ही नौकरिया दिला पायी। महंगाई चरम पर है उस पर सरकार की संवेदनहीनता और तेल की आसमान छूती कीमतों ने लोगों को रुलाने का काम किया। पिछले 48 महीनों में अकेले जम्मू कश्मीर में 371 जवान शहीद हुए और 239 नागरिक मारे गए हैं। महिलाओं पर, बेटियों पर अत्याचार के मामलो में लगातार इजाफा हुआ है, दलितों आदिवासियों पर लगातार हमला हो रहा हैं। विधायक दल के नेता आलमगीर आलम ने कहा कि मोदी सरकार ने देश की अर्थव्यवस्था का बंटाधार कर दिया है। धरना को मीडिया प्रभारी प्रदीप तुलस्यान, अनादि ब्रह्म, सुरेंद्र सिंह, सुरेश बैठा, डॉ. राजेश गुप्ता, आदित्य विक्रम जायसवाल, अजय राय आदि नेताओं ने भी संबोधित किया।

-------------

By Jagran