राज्य ब्यूरो, रांची। सुधीर त्रिपाठी ने बुधवार को झारखंड के नए मुख्य सचिव का पदभार ग्रहण कर लिया। इससे पूर्व वे झारखंड में ही स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव के पद पर कार्यरत थे। उन्होंने राज्य की निवर्तमान मुख्य सचिव राजबाला वर्मा से पदभार लिया। त्रिपाठी राज्य के 19वें मुख्य सचिव हैं। मूल रूप से गोरखपुर के निवासी सुधीर त्रिपाठी ने अपने करियर की शुरूआत कोडरमा के एसडीओ पद से की थी। पदभार ग्रहण करने के बाद विभागीय सचिवों से मुखातिब मुख्य सचिव ने अफसरों से टीम भावना के साथ काम करने की अपील की।

उन्होंने कहा कि कोई अपने आप में पूर्ण नहीं होता। इसी तरह सीखने की भी प्रक्रिया अनवरत चलती रहती है। ऐसे में आपसी सहयोग और संवाद से मुश्किल कार्य भी सरल हो जाता है। इस बीच, वे मीडिया से भी मुखातिब हुए। उन्होंने कहा कि सरकार की प्राथमिकता ही हमारी प्राथमिकता है। सबका साथ, सबका विकास की बात भी उन्होंने दोहराई।

भावुक हुईं राजबाला, गले लगाया और कहा 'गुड बाय'

नए मुख्य सचिव को पदभार देने के बाद राजबाला वर्मा दिल्ली के लिए रवाना हो गई। जाते वक्त उन्होंने अफसरों को जहां 'बेस्ट ऑफ लक' और 'गुड बाय' कहा, वहीं पास ही खड़ी कार्मिक विभाग की निवर्तमान प्रधान सचिव निधि खरे, कृषि सचिव पूजा सिंघल और कल्याण सचिव हिमानी पांडेय से गले मिलकर विदाई ली। इस दौरान वह भावुक नजर आई। पूर्व की ही तरह उन्होंने बुधवार को भी मीडिया से दूरी बनाए रखी।

नए मुख्य सचिव सुधीर त्रिपाठी ने पदभार संभाल लिया है।

जानिए, कौन हैं सुधीर त्रिपाठी 

1985 बैच के भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी सुधीर त्रिपाठी राज्यपाल के प्रधान सचिव समेत अन्य महत्वपूर्ण पदों पर रह चुके हैं। वे इसी वर्ष 30 सितंबर को रिटायर होने वाले हैं। गौरतलब है कि मुख्य सचिव राजबाला वर्मा 28 फरवरी को रिटायर हो रही हैं। सुधीर त्रिपाठी उनका स्थान लेंगे। वे उत्तर प्रदेश के मूल निवासी हैं। सुधीर त्रिपाठी का करियर शानदार रहा है। भारतीय प्रशासनिक सेवा ज्वाइन करने के बाद उन्होंने शुरुआती प्रशिक्षण बिहार में लिया। वे बिहार में खगड़िया के जिलाधिकारी भी रहे।

उन्होंने मुंगेर में एडीएम और डीडीसी पद की भी जिम्मेदारी निभाई। केंद्र में प्रतिनियुक्ति के दौरान उन्होंने लंबे अरसे तक कार्मिक मंत्रालय, कपड़ा मंत्रालय और केंद्रीय निर्वाचन आयोग को अपनी सेवाएं दीं। वे राज्य में तैनाती के दौरान जल संसाधन, गृह विभाग, निगरानी विभाग एवं नागर विमानन विभाग सरीखे विभागों में सचिव रह चुके हैं। उन्होंने राज्यपाल के प्रधान सचिव का भी दायित्व निभाया है। फिलहाल, सुधीर त्रिपाठी स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव के पद पर हैं।

शैक्षणिक करियर भी शानदार

सुधीर त्रिपाठी की गिनती राज्य के बेहतरीन अधिकारियों में होती है। वे राजनीति विज्ञान और विधि में स्नातक हैं। उन्होंने बिजनेस मैनेजमेंट की पढ़ाई क्वींसलैंड, ब्रिसबेन से की है। अखिल भारतीय सेवा में कार्य करने के दौरान उन्होंने विदेशों में कई प्रशिक्षण पाठ्यक्रम को सफलतापूर्वक पूरा किया। सेवा के दौरान उन्होंने मिड टर्म ट्रेनिंग प्रोग्राम में भी भागीदारी निभाई।

जानिए, अब तक के मुख्य सचिव का कार्यकाल

- विजय शंकर दुबे 15 नवंबर 2000 से 31 जुलाई 2002

- जी कृष्णन 01 अगस्त 2002 से 31 मार्च 2003

- अजय कुमार मिश्रा 01 अप्रैल 2003 से 31 अक्टूबर 2003

- लक्ष्मी सिंह 01 नवंबर 2003 से 13 दिसंबर 2004

- प्रेम प्रकाश शर्मा 14 दिसंबर 2004 से 18 जनवरी 2006

- मनोज कुमार मंडल 19 जनवरी 2006 से 28 फरवरी 2007

- अरविंद कुमार चुघ 01 मार्च 2007 से 15 अगस्त 2007

-प्रेम प्रकाश शर्मा 16 अगस्त 2007 से 24 फरवरी 2008

- अशोक कुमार बासू 25 फरवरी 2008 से 31 अगस्त 2009

- शिव बसंत एक सितंबर 2009 से दो अप्रैल 2010

- अशोक कुमार सिंह 03 अप्रैल 2010 से 15 मार्च 2011

- सुशील कुमार चौधरी 16 मार्च 2011 से 30 मार्च 2013

- राम सेवक शर्मा 31 मार्च 2013 से 29 अप्रैल 2014

- सजल चक्रवर्ती 30 अप्रैल 2014 से 14 अगस्त तक

- सुधीर प्रसाद 15 अगस्त 2014 से 30 सितंबर तक

- सजल चक्रवर्ती 01 अक्टूबर 2014 से 20 जनवरी 2015 तक

- राजीव गौबा 21 जनवरी 2015 से 31 मार्च 2016

- राजबाला वर्मा एक अप्रैल 2016 से 28 फरवरी 2018

झारखंड की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस