रांची : झारखंड मुक्ति मोर्चा ने आरोप लगाया है कि भाजपा ने नगर निकाय चुनाव को देखते हुए बड़े पैमाने पर फर्जी मतदाता बनाए हैं। इसकी संख्या छह से आठ हजार तक है। विधानसभा सभागार में हुई पार्टी की केंद्रीय समिति की बैठक में इस बाबत नेताओं ने जानकारी दी। झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन ने बताया कि फर्जी मतदाता बनाए जाने का आरोप मनगढ़ंत नहीं है। इस बाबत पार्टी के पास सबूत है जिसे राज्य निर्वाचन आयोग को सौंपा जाएगा। उन्होंने दलीय आधार पर नगर निकाय का चुनाव कराए जाने को सत्तारूढ़ दल का षड्यंत्र करार दिया। हालांकि उन्होंने कहा कि झामुमो पूरी मजबूती से निकाय चुनाव में हिस्सा लेगा। सरकार ने पंचायती राज व्यवस्था का राजनीतिकरण कर दिया है। विकास समिति के जरिए चुने गए लोगों पर भाजपा के कार्यकर्ताओं को बिठाया जा रहा है। उन्होंने किसानों का कर्ज माफ करने की मांग करते हुए कहा कि सरकार लागत का तीन गुना न्यूनतम समर्थन मूल्य तय करे। उन्होंने बताया कि पार्टी का 11वां केंद्रीय महाधिवेशन अप्रैल माह के अंतिम सप्ताह में होगा। महाधिवेशन का स्थान और तिथि जल्द तय कर लिया जाएगा। ----- राज्यसभा चुनाव में विपक्षी एकता पर जोर : झारखंड मुक्ति मोर्चा की केंद्रीय समिति ने निर्णय किया है कि राज्यसभा चुनाव में पार्टी अपनी दावेदारी पेश करेगी। गौरतलब है कि राज्य में राज्यसभा की दो सीटें खाली हो रही हैं। हेमंत सोरेन ने बताया कि तमाम विपक्षी दलों से इस बाबत राय ली जाएगी। झामुमो की कोशिश विपक्षी दलों की एकजुटता बनाने पर होगी ताकि सत्तारूढ़ दल को हराया जा सके। ------ मिलेंगे राष्ट्रपति से, भूमि अधिग्रहण बिल का विरोध : झामुमो का शिष्टमंडल भूमि अधिग्रहण बिल के खिलाफ जल्द ही राष्ट्रपति से मुलाकात करेगा। शिष्टमंडल में विपक्षी दलों को भी शामिल करने की कोशिश की जाएगी। हेमंत सोरेन ने बताया कि राज्य सरकार द्वारा प्राथमिक स्कूलों को बंद करने के निर्णय का भी विरोध होगा। सरकार को बताना होगा कि ऐसी क्या आपदा आ गई कि हजारों प्राथमिक स्कूलों को बंद करने का निर्णय लेना पड़ा। उन्होंने मुख्यमंत्री रघुवर दास पर आरोप लगाया कि वे सीएम नहीं मुखौटा हैं। पत्थलगड़ी को परंपरा बताते हुए बोले- सरकार इसे गलत दिशा देने का प्रयास कर रही है। --------

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस