रांची : दिल्ली से रांची आ रही चलती ट्रेन आनंद विहार-रांची एक्सप्रेस में 19 वर्षीया छात्रा से सामूहिक दुष्कर्म मामले की मेडिकल रिपोर्ट में दुष्कर्म की पुष्टि हो गई है। शनिवार को छात्रा की मेडिकल जांच सदर अस्पताल में डॉक्टरों की बोर्ड ने की थी। रेलवे पुलिस ने दुष्कर्म संबंधित मेडिकल रिपोर्ट शीघ्र मांगी थी। दुष्कर्म की पुष्टि के बाद मामले की जांच के लिए गठित एसआइटी (स्पेशल इंवेस्टिगेशन टीम) यह पता लगाने में जुट गई है कि छात्रा के साथ दुष्कर्म कहां और कैसे हुई। इसी कड़ी में एसआइटी के सदस्य सोमवार को आइआरसीटीसी दिल्ली जाएंगे। पुलिस आइआरसीटीसी से ट्रेन संख्या 12818 के एस-3 बोगी में मौजूद सभी यात्रियों के नाम और फोन नंबर लेगी। आवश्यकता अनुसार पुलिस आसपास के बेड पर यात्रा कर रहे यात्रियों के घर जाकर केस के सिलसिले में जानकारी लेगी। बतातें चलें कि घटना के बाद रेल एसपी संगीता तिवारी ने एसआइटी का गठन किया था। एसआइटी की टीम ने रांची रेलवे स्टेशन के अलावा, मुरी ट्रेन रुकने वाली अन्य जगहों की सीसीटीवी फुटेज भी खंगाल रही है। खुदकशी की कोशिश के बाद सामने आया था मामला छात्रा के साथ हुए दुष्कर्म का मामला छात्रा द्वारा खुदकशी की कोशिश के बाद सामने आया था। घटना बीते छह फरवरी का है। दुष्कर्म की घटना से आहत छात्रा ने जहर खा ली थी। उल्टी होने पर उसे गुरुनानक अस्पताल में भर्ती कराया गया। पुलिस जब पूछताछ करने गई, तब छात्रा ने दुष्कर्म की बात बताई थी। पीड़ित छात्रा पंजाब के फजीलका की रहने वाली है। रांची के कडरू स्थित एक संस्थान में पढ़ाई करती है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस