रांची : मध्यप्रदेश पुलिस की छापेमारी में राजधानी के लोअर बाजार क्षेत्र से गिरफ्तार साइबर अपराधियों ने एक नाया खुलासा किया है। पूछताछ में बताया है कि लोगों के खाते से रुपये उड़ाने में उनकी गर्लफ्रेंड भी शामिल हैं। वे इसी काम के लिए गर्लफ्रेंड बनाते थे, जिनसे बैंक अधिकारी बन कॉल करवाते थे। उन्हें साथ रखकर सारी तकनीकी जानकारियां हासिल कर खाते से रुपये उड़ा लेते थे। इसकी जानकारी मिलने के बाद मध्यप्रदेश की भोपाल पुलिस ने टीम में महिला पुलिसकर्मी को भी बुलवा लिया। गिरफ्तार अपराधियों ने बताया कि धनबाद की दो युवतियां उनके साथ साइबर फ्रॉड के रूप में काम करते थे। इसके बाद संबंधित ठिकानों पर छापेमारी की। छापेमारी के दौरान दोनों युवतियां मौके से पुलिस को चकमा देकर भाग निकली। इधर पुलिस ने तीनों आरोपियों के लिए रांची के अवनिका गौतम की कोर्ट में प्रस्तुत कर ट्रांजिट रिमांड पर लिया इसके बाद ट्रांजिट रिमांड पर लेकर भोपाल ले गई। -- लाखों की ठगी में आई संलिप्तता : भोपाल से छापेमारी के लिए आए इंस्पेक्टर मनीष कुमार ने बताया कि गिरफ्तार अपराधियों की संलिप्तता लाखों रुपये की ठगी में आया है। इसकी जांच चल रही है। गिरफ्तार अपराधियों के पास से एक लाख रुपये भी बरामद किए गए हैं। गिरोह बनाकर ये रांची से पूरे देश में साइबर ठगी करते थे। गिरफ्तार अपराधियों में ज्योतिष मंडल, संतोष कुमार यादव एवं चंदन कुमार शामिल हैं। ज्योतिष व चंदन देवघर और संतोष जमुई का रहने वाला है। संतोष के राची के कटहर टोली स्थित उसके आवास पर लोअर बाजार पुलिस के सहयोग से भोपाल की टीम ने गिरफ्तार किया। इनके गिरोह का सरगना अमित मंडल की गिरफ्तारी के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस