जागरण संवाददाता, रांची। झारखंड हाई कोर्ट में दागी विधायकों के मामले में त्वरित निष्पादन की मांग को लेकर दाखिल जनहित याचिका पर सुनवाई हुई। जस्टिस अपरेश कुमार सिंह व जस्टिस राजेश कुमार की कोर्ट ने सीआइडी एसपी से दागी 49 विधायकों के खिलाफ दर्ज मामलों की विस्तृत स्टेट्स रिपोर्ट दाखिल करने का निर्देश दिया। मामले की अगली सुनवाई 15 फरवरी को निर्धारित की गई है।

इससे पूर्व कोर्ट ने मामले में शपथ पत्र दाखिल न करने पर सीआइडी एसपी को कोर्ट में हाजिर होने का आदेश दिया और सुनवाई दूसरी पाली तक के लिए स्थगित कर दी गई। सुनवाई के दौरान सीआइडी एसपी वाइएस रमेश कोर्ट में हाजिर हुए। उन्होंने बताया कि डीजीपी के निर्देश पर दागी विधायकों के खिलाफ विभिन्न जिलों में दर्ज मामलों की सूची तैयार की गई है। जिस पर कोर्ट ने अगली सुनवाई में बिंदुवार विस्तृत रिपोर्ट कोर्ट में दाखिल करने का निर्देश दिया।

दागी विधायकों की यह है स्थिति

कोर्ट में दाखिल दस्तावेज के अनुसार , वर्तमान में कुल 49 विधायकों पर विभिन्न जिलों में कुल 119 मामले दर्ज किए गए हैं। विधायकों पर दर्ज 109 मामलों में जांच पूरी हो गई हैं। जबकि नौ मामलों में अभी जांच चल रही है। अब तक 98 मामलों में चार्जशीट दाखिल किया जा चुका है। वहीं, 11 में पुलिस ने अंतिम प्रपत्र भी दाखिल कर दिया है। 109 में से 63 मामलों में ही निचली अदालत में ट्रायल शुरू हो सका है। रांची में सबसे ज्यादा 29 मामले और देवघर में 14 मामले दर्ज किए गए हैं।

दरअसल इस संबंध में जनहित याचिका दाखिल की गई है। जिसमें दागी विधायकों के खिलाफ लंबित मामलों में तेजी लाने की मांग की गई है। बता दें कि दागी राजनीतिज्ञों पर हाल ही में सुप्रीम कोर्ट ने भी केंद्र सरकार को निर्देश दिया है कि उनके मामलों की सुनवाई रोजाना होनी चाहिए ताकि राजनीति का अपराधीकरण होने से रोका जाए।

यह भी पढ़ेंः जज से बोले लालू, हम ओपन जेल गए तो हो जाएगा नरसंहार

By Sachin Mishra