रांची, राज्य ब्यूरो। आजीवन सहयोग निधि को लेकर बुलाई गई भाजपा की प्रांतीय बैठक में प्रदेश कार्यसमिति सदस्य सीमा शर्मा को मुख्यमंत्री रघुवर दास और भाजपा पदाधिकारियों से उलझना भारी पड़ गया। भाजपा ने उनके आचरण और व्यवहार को पार्टी संगठन की रीति-नीति एवं परंपराओं के विरुद्ध मानते हुए उन्हें पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया है। रविवार देर शाम भाजपा कार्यालय में प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा की अध्यक्षता में इस मसले पर हुई विशेष बैठक में विमर्श के बाद उन्हें निलंबित करने का निर्णय लिया गया।

पार्टी ने बकायदा उनके निलंबन का पत्र जारी किया है। प्रदेश अध्यक्ष के निर्देश पर महामंत्री दीपक प्रकाश ने निलंबन संबंधी पत्र जारी किया है जिसमें उनके आचरण को घोर अनुशासनहीनता की श्रेणी में मना गया है। बता दें कि रविवार को रांची के रिम्स सभागार में सहयोग निधि को लेकर बुलाई गई प्रांतीय बैठक में सीमा शर्मा ने मुख्यमंत्री रघुवर दास से बहस कर ली थी।

वाकया कुछ ऐसा था कि प्रांतीय बैठक में मुख्यमंत्री के संबोधन के बाद मंच का संचालन कर रहे अनंत ओझा ने नवीन जायसवाल को धन्यवाद ज्ञापन के लिए बुलाया। इससे पहले की नवीन जायसवाल कुछ बोलते सीमा शर्मा ने सवाल उठाया कि हम लोगों की राय भी ली जाएगी क्या? उनका अचानक इस तरह का रुख देखकर प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा और मुख्यमंत्री एक दूसरे का मुंह देखने लगे। सीएम ने हस्तक्षेप करते हुए कहा कि आपको बोलना है तो कार्यसमिति बैठक में अपनी बातें रखे। इस पर सीमा

शर्मा ने कहा कि कार्यसमिति बैठक में हमें बोलने नहीं दिया जाता। हम सिर्फ भाषण सुनने नहीं आते। कोई कुछ बोलता है तो डांट दिया जाता है। इस पर सीएम ने कहा कि किसे डांट दिया जाता है। इतने में हो-हंगामा शुरू हो गया। भाजपा के कुछ पदाधिकारी सीमा शर्मा के खिलाफ उठ खड़े हुए। इनमें आदित्य साहू, प्रतुल शाहदेव, दीनदयाल वर्णवाल समेत अन्य लोग शामिल थे।

सीएम का रुख भी तनिक सख्त हुआ उन्होंने कहा कि यह अनुशासनहीनता है। इस पर भी सीमा शर्मा खामोश नहीं हुई, कहा कोई अनुशासनहीनता नहीं है। हम पार्टी फोरम पर बोल रहे हैं। इस बीच हो-हंगामा बढ़ने लगा। अनंत ओझा मंच से भारत माता की जय और वंदे मातरम् का नारा लगाते हुए विवाद संभालने की कोशिश करते दिखे। हंगामा बढ़ता देख सीमा शर्मा बैठ गई। उनके बैठते ही प्रांतीय बैठक की समाप्ति की घोषणा कर दी गई।

पलामू के रवींद्र तिवारी भी निलंबित

प्रदेश भाजपा ने पलामू के रवींद्र तिवारी को भी प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया है। प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा के निर्देश पर उन्हें निलंबित किया गया है। महामंत्री दीपक प्रकाश के हस्ताक्षर से जारी निलंबन पत्र में कहा गया है कि दिसंबर माह में आपके द्वारा लगातार सोशल मीडिया पर भाजपा संगठन व सरकार के विरुद्ध जिस प्रकार की भाषा का प्रयोग किया गया है, वह पार्टी संगठन के रीति नीति और परंपराओं के विरुद्ध है। प्रदेश नेतृत्व आपके इस कृत्य को घोर अनुशासनहीनता की श्रेणी का अपराध मानता है।

यह भी पढ़ेंः रांची में सीएम रघुवर दास बोले, सब चलता है वाली सोच बदलें
 

 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021