रांची : घरेलू ¨हसा के खिलाफ बने कानूनों का पालन नहीं हो रहा है। इसके कारण महिलाओं के प्रति हो रही ¨हसा पर रोकथाम नहीं हो पाई है। यह बातें झारखंड राज्य महिला आयोग की पूर्व अध्यक्ष महुआ माजी ने कही। वह शनिवार को एसडीसी सभागार में महिला ¨हसा पर हुई राज्यस्तरीय कार्यशाला में मुख्य अतिथि के रूप में बोल रही थीं। कार्यशाला का आयोजन ऑक्सफैम इंडिया, जुमाव मंच और स्पार्क संस्था के संयुक्त सहयोग से किया गया।

महुआ माजी ने कहा कि झारखंड में सब कुछ है, कई योजनाएं चल रही हैं, परंतु जागरूकता की कमी है। आज कई संस्थाएं महिलाएं, बच्चियों को जागरूक करने के लिए कार्यक्रम चला रही हैं। कुछ संस्थाएं इसे गंभीरता से नहीं ले रही है। इस कारण महिलाएं आज घरेलू ¨हसा की शिकार हो रही हैं। उन्होंने कहा कि जागरूकता के अभाव में महिलाएं अपने अधिकार को जान नहीं पा रही हैं। जरूरत है कि इस दिशा में कार्यरत सभी स्वयंसेवी संस्थाएं मिलकर कार्य करें। मौके पर मनोहर लाल, सुष्मिता सपना, रेश्मा सिंह, सच्ची कुमारी, एचआइ फातिमा, शमशाद, फिरदौस, अपराजिता मिश्रा आदि उपस्थित थीं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप