रांची, जेएनएन। राजधानी रांची में आज तीन दिवसीय झारखंड माइनिंग शो 2017 (जेएमएस-2017) का आगाज हुआ। इस मौके पर रेलमंत्री पीयूष गोयल ने कहा है कि वित्त वर्ष 2017-18 में रेलवे झारखंड में 3500 करोड़ का निवेश करेगा। झारखंड माइनिंग शो में पीयूष गोयल ने उद्योग जगत को आश्वस्त किया कि झारखंड में विकास तेज गति से होगा। 

उन्होंने कहा कि रेलवे ने झारखंड में 4 गुना से अधिक निवेश किया है। देश भर में डिस्ट्रिक्ट मिनिरल फंड का अगर किसी राज्य ने सबसे बेहतर ढंग से इस्तेमाल किया है तो वो है झारखंड। अधिकारियों ने देर रात काम करने को लेकर चिंता जताई, जिस पर मैंने उनसे पूछा तो उन्होंने तत्काल कहा कि दिन रात काम करिए, कोई दिक्कत नहीं होगी, मैं खुद मॉनिटर करूंगा। गोयल ने कहा कि मैं आश्वस्त हूं कि रघुवर ने बीड़ा उठाया है वो काम जरूर पूरा होगा।

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि झारखंड में निवेश करें, यहां कोई समस्या नहीं होगी। सरकार का संकल्प है कि राज्य से गरीबी को दूर करेंगे।

इस दौरान कोल इंडिया और झारखंड सरकार के बीच (समझौता ज्ञापन) एमओयू हुआ। खदानों में जमा पानी का उपयोग पेयजल और सिंचाई के लिए होगा। इससे पहले सीएम रघुवर ने ट्वीट कर सभी निवेशकों, प्रतिभागियों और पीयूष गोयल का अभिनंदन किया है। तीन दिवसीय इस कार्यक्रम का उद्घाटन मुख्यमंत्री ने किया। इस दौरान सरकार ने कोल इंडिया और मिनरल एक्सप्लोरेशन कारपोरेशन लिमिटेड (एमईसीएल) के साथ एमओयू किया।

कोल इंडिया के साथ विभिन्न कोल माइंस में बेकार पड़े पानी का उपयोग पेयजल और सिंचाई में करने के लिए एमओयू होगा, जबकि एमईसीएल के साथ खनिजों की खोज के लिए एमओयू किया जाएगा। इसके अलावा भी कई एमओयू हुए।

देखें तस्वीरें, झारखंड माइनिंग शो का आगाज

मुख्यमंत्री के सचिव सुनील वर्णवाल के अनुसार, राज्य में पहली बार आयोजित इस कार्यक्रम का उद्घाटन हुआ। इस दौरान मुख्य अतिथि के तौर पर केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल उपस्थित थे। वहीं, एक नवंबर को समापन समारोह के मुख्य अतिथि केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर होंगे। बकौल सुनील वर्णवाल, माइनिंग शो के दौरान पांच तकनीकी सत्र का आयोजन किया जाएगा।

इसके लिए अब तक 2000 डेलीगेट्स ने अपना रजिस्ट्रेशन कराया है। वहीं, प्रदर्शनी के लिए अब तक 50 कंपनियों ने रजिस्ट्रेशन कराया है। उन्होंने कहा कि हमारी कोशिश होगी कि माइनिंग उपकरणों से जुड़ी मैन्यूफैक्चरिंग कंपनियां झारखंड का रुख करें।

इन हस्तियों ने की शिरकत

कोल इंडिया के सीएमडी गोपाल सिंह, अडाणी ग्रुप के एमडी राजेश अडाणी, वोल्वो इंडिया के एमडी कमल बाली, एनएमडीसी के सीएमडी एन बिजेंद्र कुमार, बीईएमएल के सीएमडी डीके होटा, टाटा हिताची के एमडी संदीप सिंह, एमएसटीसी के सीएमडी बीबी सिंह, टाटा स्टील के वीपी सुनील भास्करन, टाटा स्टील के वीपी राजीव सिंघल, वेदांता लिमिटेड के सीओओ एस मजूमदार, केसीटी ग्रुप के वीके अरोड़ा, एचईसी के सीएमडी ए घोष, हिंडाल्को के बी झा, हिंदुस्तान कॉपर के निदेशक एसके भट्टाचार्य और कोल इंडिया के पूर्व चेयरमैन पार्थो भट्टाचार्य।

प्रमुख प्रतिभागी कंपनियां

टाटा स्टील, अडाणी ग्रुप, कोल इंडिया, सेल, एनएमडीसी, लार्सन एंड टूब्रो, टाटा हिताची, त्रिवेणी अर्थमूवर्स, बालकृष्णा इंडस्ट्रीज, टाटा मोटर्स, हिंडाल्को, एसआरईआइ, केटीसी ग्रुप, रुंगटा माइंस आदि।

अब तक 10 हजार करोड़ का निवेश, 50 हजार को रोजगार

सुनील वर्णवाल ने कहा कि मोमेंटम झारखंड के तहत किए गए 210 एमओयू में से 95 को धरातल पर उतारने का काम शुरू हो चुका है। इन कंपनियों के धरातल पर उतरने पर दस हजार करोड़ रुपये का निवेश होगा, जबकि 50 हजार से अधिक लोगों को रोजगार मुहैया होगा।

रेल मंत्री की रेल अधिकारियों के साथ बैठक
रेल मंत्री पीयूष गोयल रांची में साउथ ईस्ट रेलवे और ईस्ट सेंट्रल रेलवे के अधिकारियों के साथ बैठक की। इस बैठक में कई योजनाओं पर चर्चा हुई। बैठक में रेलवे के सारे पदाधिकारी भी रांची पहुंचे। 

झारखंड की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप