राज्य ब्यूरो, रांची। झारखंड में निवेश की संभावनाओं को तलाशने के लिए मुख्यमंत्री रघुवर दास के नेतृत्व में झारखंड का उच्चस्तरीय प्रतिनिधिमंडल चेक रिपब्लिक और जापान के छह दिवसीय दौरे पर रवाना हो गया। मुख्यमंत्री रघुवर दास का पहला पड़ाव चेक गणराज्य होगा। वे यहां तीन दिवसीय अंतरराष्ट्रीय इंजीनियरिंग शो भाग लेंगे। मोमेंटम झारखंड में जापान और चेक गणराज्य भारत के कंट्री पार्टनर थे।

मुख्यमंत्री के नेतृत्व में उच्चस्तरीय प्रतिनिधिमंडल देर रात इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट से जर्मनी के फ्रैंकफोर्ट होते हुए चेक रिपब्लिक की राजधानी प्राग के लिए रवाना हुआ। प्रतिनिधिमंडल प्राग के इंटरकांटीनेंटल प्राहा में रुकेगा और नौ अक्टूबर को बर्नो में आयोजित अंतरराष्ट्रीय इंजीनियरिंग शो में भाग लेगा। मुख्यमंत्री यहां इंडियन पवेलियन के उद्घाटन समारोह में शामिल होंगे। वे यहां लगे झारखंड पवेलियन का उद्घाटन भी करेंगे। इस मौके पर चेक के उद्योग मंत्री और भारत के राजदूत कृष्ण कुमार भी उपस्थित रहेंगे।

इसी दिन वे निवेशकों से वन टू वन मुलाकात करेंगे। होम क्रेडिट, टॉस कूरीम और दास जदर कंपनियों के साथ झारखंड सरकार एमओयू भी साइन करेगी। इसी दिन मुख्यमंत्री की प्रेस कांफ्रेंस का भी आयोजन किया गया है। यहां रात्रि में चेक रिपब्लिक के अधिकारियों ने झारखंड के प्रतिनिधिमंडल के लिए विशेषतौर पर रात्रि भोज का आयोजन भी किया है। अगले दिन 10 अक्टूबर को मुख्यमंत्री रघुवर दास अपनी टीम के साथ प्राग में औद्योगिक क्षेत्र का भ्रमण करेंगे। वे इस दौरान टॉस कूरीम और दास जदर की फैक्ट्री का दौरा भी करेंगे।

मुख्यमंत्री इसी दिन वहां के उप राष्ट्रपति इवो बरेक से शिष्टाचार मुलाकात भी करेंगे और देर शाम जापान के लिए प्रस्थान करेंगे। उच्चस्तरीय प्रतिनिधिमंडल में अपर मुख्य सचिव अमित खरे, मुख्यमंत्री के सचिव सुनील कुमार वर्णवाल, रियाडा के सचिव सुनील कुमार सिंह, सीएम के निजी सचिव अंजन सरकार, ईवाई के वाइस प्रेसीडेंट प्रिय रंजन सहित अन्य शामिल हैं। 

जापानी दूतावास में मुख्यमंत्री रघुवर दास के सम्मान में रात्रि भोज
नई दिल्ली स्थित जापानी दूतावास में मुख्यमंत्री रघुवर दास के सम्मान में शनिवार की शाम रात्रि भोज का आयोजन किया गया। जापान के राजदूत केंजी हिरामात्सु के बुलावे पर मुख्यमंत्री रघुवर दास वहां पहुंचे थे। रात्रि भोज के दौरान दोनों देशों के बीच में निवेश की संभावनाओं पर जापान की बड़ी कंपनियों के प्रतिनिधियों से चर्चा हुई।

इस मौके पर सोजत्सु इंडिया, मित्सुई इंडिया, मित्सुबिसी हेवी इंडस्ट्रीज इंडिया, निप्पोन स्टील एवं सुमितोओ इंडिया, जेट्रो आदि कंपनियों के वरिष्ठ प्रतिनिधि भी उपस्थित थे। जेट्रो जापान की एक ऐसी एजेंसी है जो दूसरे देशों के साथ व्यापारिक संबंधों और निवेश को बढ़ावा देने का कार्य करती है। जापान के राजदूत केंजी हिरामात्सु ने विश्वास दिलाया कि जेट्रो, जेआइसीए एवं अन्य जापानी संस्थाएं निवेश को बढ़ावा देने संबंधी कार्यक्रमों का संचालन करेंगी।

बता दें कि मुख्यमंत्री रघुवर दास अपने प्रतिनिधिमंडल के साथ 11 से 14 अक्टूबर के बीच जापान के दौरे पर रहेंगे। सीएम के साथ अपर मुख्य सचिव अमित खरे, स्थानीय आयुक्त डीके तिवारी, मुख्यमंत्री के सचिव सुनील कुमार वर्णवाल, रियाडा सचिव सुनील कुमार सिंह, मुख्यमंत्री के निजी सचिव अंजन सरकार, टाटा स्टील के वीपी सुनील भास्करन, जेसीपीसीपीएल के प्रबंधन निदेशक सीपी शास्त्री सहित अन्य अधिकारी जापानी दूतावास पहुंचे थे।

यह भी पढ़ेंः मौसम विज्ञान ने दो दिन भारी बारिश की संभावना जताई
 

 

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप