लोहरदगा, जासं। लोहरदगा जिले के किस्को प्रखंड क्षेत्र के खरकी पंचायत अंतर्गत हुआहार गांव में सर्पदंश से एक बच्चे की मौत हो गई। बताया जाता है कि त्रिलोचन भगत के पुत्र सूरज भगत (12) घर में खेल रहा था। इसी दौरान जहरीले सांप ने उसे काट दिया। इसकी जानकारी परिवार के किसी सदस्य को नहीं हुई। सर्पदंश के शिकार सूरज भगत ने भी घर वाले को कुछ नहीं बताया, अचानक से उसने घरवालों के पास पेट दर्द की शिकायत की। इसके बाद उसे पेट दर्द की दवाइयां दी गई, पर वह ठीक नहीं हुआ।

परिवार वालों को कुछ समझ में भी नहीं आ रहा था कि आखिर बच्चे को क्या हो गया है और वह दर्द से क्‍यों कराह रहा है। इसी दरम्यान बच्चे के हाथ में सांप काटने का निशान देख परिवार वाले परेशान हो गए और बच्चे को सांप काटने का मामला सबके सामने आया। इसके कुछ देर बाद ही लोगों ने घर के भीतर सांप देखा तो पूरी तरह से आश्वस्त हो गए कि बच्चे को सांप ने ही काटा है, लेकिन तब तक काफी देर हो चुकी थी और बच्चे की मौत भी हो गई।

इसके बाद भी परिजन सूरज को लेकर अस्पताल पहुंचे। जहां पर चिकित्सकों ने बच्चे की जांच करने के बाद मृत घोषित कर दिया और पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेजा। मामले में किस्को प्रखंड के हुआहार पंचायत के मुखिया ने किस्को के अंचलाधिकारी बुड़ारू सारू से पीड़ित परिवार को मुआवजा देने की मांग की है। सीओ बुड़ारू सारू का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट के साथ पीड़ित परिवार अंचल कार्यालय में आवेदन जमा करें, नियमानुसार मुआवजा का भुगतान किया जाएगा। उन्होंने यह भी कहा कि सांप काटने से बच्चे की मौत पर 4 लाख रुपये मुआवजा का प्रावधान है।

Posted By: Sujeet Kumar Suman

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस