संवाद सूत्र, रजरप्पा(रामगढ़): गिरिडीह सांसद चंद्रप्रकाश चौधरी के नेतृत्व में पिछले एक दिसंबर को चार सांसदों का एक प्रतिनिधिमंडल दिल्ली स्थित राष्ट्रपति भवन पहुंचकर केंद्रीय मंत्री नित्यानंद राय से मुलाकात कर कुड़माली कोड लागू करने की मांग की गई थी। इसी को लेकर शनिवार देर शाम कुड़मि आदिवासी समाज के द्वारा रजरप्पा प्रोजेक्ट में सम्मान समारोह कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। इसमें समाज के लोगों ने गिरिडीह सांसद चंद्रप्रकाश चौधरी व समाजसेवी धनेश्वर महतो उर्फ डीएम का जोरदार स्वागत फूल माला के साथ किया गया। मौके पर गिरिडीह सांसद चंद्रप्रकाश चौधरी ने समाज के लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि आदिवासी कुड़मि समाज को आगे बढ़ाने के लिए वे पूरी तरह से कृतसंकल्प है। जब तक हमलोग कुड़मालि भाषा कोड पारित नही करवा लेते हैं, तब तक हमारा संघर्ष जारी रहेगा। साथ ही उन्होंने कहा कि कुड़मि समाज के लोगों को भी एकजुट रहने की जरूरत है। एकजुटता से ही हमे अपना हक व अधिकार प्राप्त हो सकता है। कहा आगे कि प्रति 10 वर्ष में एक बार होने वाले भारत की जनगणना में कुड़माली भाषा का कोड शामिल नहीं किया गया है। जनजातीय भाषा के तौर पर स्वतंत्र कोड ना देना कुड़माली भाषा-भाषी लोगों के साथ अन्याय है। मौके पर रामगढ़ जिप अध्यक्ष ब्रह्मदेव महतो, रामगढ़ नप उपाध्यक्ष मनोज महतो, आजसू जिला कार्यकारी अध्यक्ष अमृतलाल मुंडा सहित कई मौजूद थे। दिल्ली से लौटने के बाद चंद्रप्रकाश चौधरी का स्वागत गिरिडीह सांसद चंद्रप्रकाश चौधरी व समाजसेवी धनेश्वर महतो के दिल्ली से लौटने पर कुड़मि आदिवासी समाज के लोगो ने जोरदार स्वागत किया। स्वागत करने वालो में कुड़मि समाज के केंद्रीय सचिव बैजनाथ महतो, केंद्रीय उपाध्यक्ष निरंजन महतो, जिलाध्यक्ष शंकर लाल प्रसाद, रामगढ़ सदर अध्यक्ष टेकलाल महतो, दुलमी प्रखंड अध्यक्ष सुशांत भारती, नगर परिषद सचिव निरंजन महतो उर्फ राजन, चितरपुर प्रखंड सचिव सुधीर महतो अकेला, भुवनेश्वर महतो, सुरेश महतो, राजीव कुमार, सुरेश महतो, सुरेंद्र महतो, रामेश्वर महतो शामिल थे।

Edited By: Jagran