संवाद सहयोगी, रामगढ़ : कोरोना महामारी ने हमसे अपनों को छीना और जब उन्हें श्रद्धांजलि देने को लेकर पूरे राज्य में दैनिक जागरण ने आह्वान किया तो राज्य सहित जिलेवासी पूरी शिद्दत से अपने संबंधी, ईष्ट मित्रों, जानने वालों, जो अब इस दुनिया में नहीं हैं, को श्रद्धांजलि देने सोमवार को आगे आए। इसमें सभी धर्म, समुदाय, आयु, वर्ग के लोगों ने अपनी भागीदारी निभाई। ऐसा लगा मानो पूरा जिला कोरोना के क्रूर पंजों से असमय शिकार हुए लोगों को अपनी संवेदना प्रकट करने के लिए दो मिनट थम गया। दो मिनट का यह पल ऐसा लगा जैसे सर्व शक्तिमान ने हमें एक खास मौका दिया है। वे जो आज कोरोना के कारण हमलोगों के बीच नहीं हैं, वे बस इस पल को निहारे जा रहे हैं और ऐसा कर हमलोगों ने उनकी आत्मा को बड़ी शांति पहुंचाई। सर्व धर्म प्रार्थना कार्यक्रम पूरे जिले के सभी प्रखंडों में आयोजित किया गया। हिदू, मुस्लिम, सिख, ईसाई धर्म गुरुओं ने क्रमश: शांति पाठ, अरदास, फातया व प्रार्थना कर श्रद्धांजलि दी। सबसे बड़ी खासियत यह रही कि लोगों ने शारीरिक दूरी का पालन करते हुए मस्जिद, गुरुद्वारा, मंदिर में सर्व धर्म प्रार्थना आयोजित की। जिले के आम व खास से लेकर प्रशासनिक, पुलिस पदाधिकारी, जवान, कर्मी, विभिन्न सरकारी कार्यालयों में, व्यवसायी अपने प्रतिष्ठान, महिला पुरुष, बच्चे आदि भी जो जहां थे, वहीं दो मिनट का मौन रखकर कोरोना से असमय काल के गाल में समाने वाले लोगों को अपनी ओर से श्रद्धांजलि अर्पित की। इसके बाद जगह-जगह वैसे लोग जिन्होंने अपने परिवारों को खोया या फिर कोरोना से जंग जीत गए वे आगे आए और जगह-जगह पौधारोपण किया। साथ ही उन पौधों को बचाने के लिए अपनी प्रतिबद्धता भी दोहराई। माता छिन्नमस्तिके के दरबार से लेकर मांडू-पतरातू की सीमा तक पूरा जिले वासी, जो जहां थे दो मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि दी। इसमें विभिन्न सामाजिक, राजनीतिक, व्यवसायिक संगठन यहां तक कि छोटे-से बड़े व्यवसायिक व औद्योगिक प्रतिष्ठानों, अस्पतालों में भी श्रद्धांजलि कार्यक्रम आयोजित किए गए। यहां तक कि जिले के शिक्षक, बुद्धिजीवी और व्यवसायियों ने भी बढ़चढ़कर इसमें भागीदारी निभाई। यहां तक कि लोगों ने अपने-अपने घरों में भी परिजनों के साथ दो मिनट का मौन रखा। मानो यह मौका उन्हें संयोग से मिला है और इसमें असमय प्राण गंवाए लोगों को सच्ची श्रद्धांजलि दी जा सकती है। भुरकुंडा के दोतल्ला पंचायत में करीब पांच सौ लोग एक खुले स्थान में एकत्रित हो गए और प्रशासनिक पदाधिकारियों, पंचायत प्रतिनिधियों की मौजूदगी में दो मिनट का मौन रखा। कुछ यही स्थिति पतरातू, बरकाकाना, कुजू, मांडू, वेस्ट बोकारो, गोला, रजरप्पा, चितरपुर, दुलमी, गिद्दी आदि क्षेत्रों में भी लोगों ने प्रार्थना की।

Edited By: Jagran