भुरकुंडा : भुरकुंडा थाना अंतर्गत सयाल में आजसू नेता सतीश सिन्हा को अपराधियों द्वारा गोली मारने की घटना ने गत दो माह पहले हुई मैनेजर की हत्या घटना को ताजा कर दिया। सीसीएल बरका सयाल प्रक्षेत्र अंतर्गत उरीमारी आउटसोर्सिग कोयला परियोजना बीजीआर कंपनी से जुड़े दो लोगों को मारने की यह दूसरी घटना है। सतीश सिन्हा बीजीआर आउटसोर्सिंग कोयला परियोजना कंपनी में अभी कोयला ट्रासपोर्टिग के काम से जुड़े हुए हैं। इससे पहले जुलाई महिने में बीजीआर कंपनी के मैनेजर मल्लिकार्जुन की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। सेन्ट्रल सौन्दा पीओ बंग्ला पास जब मल्लिकार्जुन अपने घर के अंदर जा रहे थे उसी समय उन्हे गोली मारी गई थी। मैनेजर की हत्या के बाद पुलिस ने कई लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ भी की थी। उस घटना मामले पर सतीश सिन्हा से भी पुलिस ने पूछताछ की थी। इधर दूसरी घटना में आजसू नेता सतीश सिन्हा को गोली मारने की घटना के बड़ी संख्या में आजसू नेता कार्यकर्त्ता भी सयाल घटना स्थल पर पहुंचे।

--------------------------------------- सीसीएलकर्मी पच्चू राणा से हो रही पूछताछ सतीश सिन्हा को गोली मारने की घटना समय एक सीसीएल कर्मी पच्चू राणा भी कार्यालय में मौजूद थे। इसी को लेकर भुरकुंडा पुलिस सहित पतरातू एसडीपीओ प्रकाश चंद्र महतो भी पच्चू राणा से पूछताछ कर रहे है। पुलिस पच्चू से पूरे घटना की जानकारी भी ले रही है। पुलिस सतीश सिन्हा के ड्राइवर से भी पूछताछ कर रही है।

---------------------------------------- दो अपराधी घुसे थे कार्यालय में आजसू नेता सतीश सिन्हा को गोली मारने के लिए दो अपराधी अखिल झारखंड श्रमिक संघ कार्यालय में घुसे थे। जबकि दो अपराधी कार्यालय के बाहर मोटरसाइकिल के साथ थे। अपराधियों ने सतीश सिन्हा को चार गोली मारी है। दोनों घटनाओं को रात्रि में दिया गया अंजाम सीसीएल बरका सयाल प्रक्षेत्र अंतर्गत उरीमारी आउटसोर्सिंग कोयला परियोजना बीजीआर कंपनी से जुड़े दो लोगों को गोली मारने की घटना को रात्रि में ही अंजाम दिया गया । वो भी रात करीब आठ बजे। मैनेजर मल्लिकार्जुन की गोली मारकर हत्या भी रात करीब आठ बजे की गई थी। जबकि आजसू नेता सतीश सिन्हा को को भी रात्रि करीब आठ बजे गोली मारी गई।

Posted By: Jagran