जागरण संवाददाता, रामगढ़ : व‌र्ल्ड रेड क्रॉस डे के मौके पर शनिवार को इंडियन रेड क्रॉस सोसाइटी रामगढ़ द्वारा छत्तरमांडू स्थित सदर अस्पताल परिसर स्थित ब्लड बैंक में प्लाज्मा डोनेशन के उद्देश्य से एंटीबॉडी एस्टीमेशन कैंप का आयोजन किया गया। इसकी शुरुआत में औपचारिक रूप से उपायुक्त संदीप सिंह ने की। शिविर में 30 लोगों ने आकर स्वेच्छा से आकर एंटीबॉडी एस्टीमेशन टेस्ट कराया। इस दौरान रेड क्रास सोसाइटी रामगढ़ के चेयरपर्सन डा ठाकुर मृत्युंजय सिंह ने कोविड-19 वैश्विक महामारी में प्लाज्मा डोनेशन के महत्व को समझते हुए जिन 30 लोगों ने अपनी स्वेच्छा से आकर उनका आभार प्रकट किया। रिम्स ब्लड बैंक इंचार्ज डा केके सिंह ने कहा कि जिन 30 लोगों ने अपना ब्लड सैंपल दिया है इनका एंटीबॉडी टाइटर टेस्ट किया जाएगा और जिन का टाइटर 4.0 व उससे अधिक पाया जाएगा, उन्हें प्लाज्मा डोनेशन के लिए योग्य माना जाएगा। प्लाज्मा डोनेशन एक सरल प्रक्रिया है। इस प्लाज्मा डोनेशन की सबसे खासियत यह है की डोनर हर 15 दिन पर प्लाज्मा डोनेट कर हर बार दो जिदगी बचा सकता है। जिन लोगों ने बार-बार प्लाज्मा डोनेट किया है उनका एंटीबॉडी लंबे समय तक बरकरार रहता है। सिविल सर्जन रामगढ़ डा गीता सिन्हा मानकी ने कहा कि प्लाजमा थेरेपी कोविड-19 वैश्विक महामारी के इलाज का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। इसका सलाह सही समय पर सक्षम चिकित्सक द्वारा बीमारी की गंभीरता को देखते हुए दिया जाना चाहिए। मौके पर इंडियन मेडिकल एसोसिएशन रामगढ़ के अध्यक्ष डा एसपी सिंह, रेड क्रॉस सोसायटी रामगढ़ के कोषाध्यक्ष शेखर सुमन, कार्यकारिणी सदस्य इंद्रपाल सिंह सैनी, सदर अस्पताल के उपाधीक्षक डा उदय श्रीवास्तव, ब्लड बैंक इंचार्ज डा रेनू, डा केएन प्रसाद, डा भरत सिंह, डा प्रियंका सिंह, डा सविता वर्मा आदि मौजूद थे।