रामगढ़। शहर के छोटकी मुर्राम, मंतगढा में शुक्रवार को करंट लगने से सिकंदर राम नामक युवक की मौत हो गई। सिकंदर राम रामगढ़ में मॉब लिंचिंग मामले अलीमुद्दीन हत्याकाड का नामजद अभियुक्त था। हाल ही में उसे रामगढ़ कोर्ट ने उम्रकैद की सजा सुनाई थी। बाद में 29 जून को हाई कोर्ट से जमानत मिलने के बाद गत 4 जुलाई को वह सात आरोपितों के साथ छूटकर जेल से बाहर आया था।

बताया गया कि सिकंदर राम शुक्रवार को पूर्वाह्न करीब 11 बजे अपने घर से बाजार टाड़ जा रहा था। इसी दौरान रास्ते में जमीन पर टूट कर गिरे बिजली तार की चपेट में आ गया। इस हादसे में मौके पर ही उसकी मौत हो गई। सूचना पाकर रामगढ़ थाना प्रभारी इंस्पेक्टर राजेश कुमार, सअनि निगम कुमार सिंह घटनास्थल पहुंचे और आवश्यक छानबीन कर शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेजा। ज्ञात हो कि रामगढ़ के बाजारटाड़ इलाके में 29 जून 2017 को लोगों के एक समूह ने वाहन से प्रतिबंधित मांस लेकर जा रहे 40 वर्षीय अलीमुद्दीन अंसारी को पीट-पीट कर मार डाला था।

अंसारी की पत्‍‌नी मरियम खातून ने 17 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। पुलिस ने भाजपा के जिला मीडिया प्रवक्ता नित्यानंद महतो समेत 12 को आरोपी मानते हुए चार्जशीट दाखिल की थी। इनमें एक नाबालिग भी शामिल था। 29 जून 2018 को अदालत ने नाबालिग को छोड़कर शेष 11 लोगों को दोषी मानते हुए सजा सुनाई थी।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप