जागरण संवाददाता, रामगढ़ : रामगढ़ थाने में पत्नी द्वारा मारपीट व प्रताड़ित करने का आरोप लगाकर रामगढ़ थाने में प्राथमिकी दर्ज किए जाने के बाद रामगढ़ एसडीपीओ किशोर कुमार रजक ने अपना पक्ष रखते हुए कहा कि पत्नी वर्षा श्रीवास्तव द्वारा आत्महत्या की धमकी देते हुए उनपर झूठा मारपीट का आरोप लगाकर मानसिक रूप से प्रताड़ित किया जाता है। गत 26 अक्टूबर 2021 को ही महिला थाना प्रभारी रामगढ़, महिला उत्पीड़न केंद्र के प्रबंधक व सखी वन स्टेप रामगढ़ में लिखित शिकायत दर्ज करा चुके हैं। पत्नी द्वारा मारपीट व प्रताड़ित कराने का आरोप पूरी तरह से गलत है। एसडीपीओ ने बताया कि पिछले चार साल से उनकी पत्नी वर्षा श्रीवास्तव लगातार आत्महत्या करने की धमकी देकर प्रताड़ित करती है। मुझ पर महिलाओं के साथ अवैध संबंध का झूठा आरोप लगाकर सार्वजनिक तौर पर बदनाम करती रहती है। मुझपर मारपीट व दूसरे औरतों के साथ अवैध संबंध का आरोप लगाते हुए फेसबुक व अन्य इंटरनेट मीडिया के माध्यम से बदनाम करती हैं। पत्नी लगातार गाड़ी व बंगला खरीदने की दबाव बनाती है। पूर्व में उनकी पत्नी दिल्ली व उत्तर प्रदेश में कई संगीन आरोप लगाकर मुकदमा कर चुकी है। प्रयागराज में 2016 में भी उनकी पत्नी एक व्यक्ति पर दुष्कर्म का आरोप लगाकर प्राथमिकी दर्ज करा चुकी हैं। वाराणसी व लखनऊ कैंट में भी वर्ष 2014 व 2015 में शारीरिक शोषण सहित कई आरोप लगाकर प्राथमिकी दर्ज करा चुकी है। एसडीपीओ किशोर कुमार रजक के मुताबिक उनकी पत्नी वर्षा श्रीवास्तव मानसिक रोगी की भी शिकार हैं। वे लगातार उनके विरुद्ध थाना व पुलिस अधीक्षक को आवेदन देते रहती हैं।

Edited By: Jagran