संवाद सूत्र, भुरकुंडा (रामगढ़) : तीन दिवसीय हड़ताल के पहले दिन पूरे सीसीएल को लगभग 244 करोड़ रुपये का नुकसान होने का अनुमान है। वहीं बरका-सयाल प्रक्षेत्र को लगभग 40 करोड़ रुपया नुकसान का अनुमान बताया जाता है। जानकारी के अनुसार बरका-सयाल प्रक्षेत्र में रोड सेल, रैक लोडिग व विभिन्न पावर प्लांटों में लगभग प्रतिदिन 10 हजार टन कोयले का डिस्पैच होता था। जो पूरी तरह से ठप रहा। वहीं कोयले का उत्पादन भी एक छटाक नहीं हुआ।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप