सगालीम : पलामू जिले के मनातू बीईईओ सुरेश चौधरी ने गुरुवार को मनातू प्रखंड के अति उग्रवाद प्रभावित चक पंचायत अंतर्गत टिल्हा उत्क्रमित मध्य विद्यालय की जांच की। बीईईओ ने ग्रामीणों के साथ बैठक की। उन्होंने स्कूल के बारे ग्रामीणों से विस्तृत जानकारी प्राप्त की। स्कूल के प्रबंधन समिति के अध्यक्ष,संयोजिका व ग्रामीणों को स्कूल को देख रेख करने का बात कही। जांच में 240 नामंकित बच्चों में 125 बच्चे पाएंगे। इससे बीईईओ ने स्कूल के सचिव सुरेंद्र यादव को कड़ी फटकार लगाई। बीईईओ ने स्कूल के शिक्षक को कई दिशा निर्देश दिया। कहा कि स्कूल ससमय संचालित किया जाए। बच्चों के शिक्षा व मध्याह्न भोजन के गुणवत्ता से कोई समझौता नहीं किया जाए। मध्याह्न भोजन में अनियमितता बर्दाश्त नहीं की जाएगी। मध्याहन भोजन बंद मिलने पर संबंधित लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। बीईईओ ने स्कूल के नए किचेन शेड में मध्याह्न भोजन संचालित करने का आदेश दिया। बीईईओ के गांव पंहुच स्कूल की जांच करने पर ग्रामीणों में काफी खुशी देखी गई। ग्रामीणों ने कहा कि बीईईओ इसी तरह गांव के स्कूल का निरीक्षण करते रहेंगे तो शिक्षा स्तर में बहुत हद से सुधार होगा। बीईईओ ने बताया कि शिकायत मिलने पर टिल्हा उमवि का निरीक्षण किया। इस दौरान स्कूल परिसर में ग्रामीणों के साथ बैठक की। इसमें ग्रामीण व स्कूली बच्चों से पूछताछ की गई। बैठक में शिक्षक को कई दिशा निर्देश दिया गया है। ससमय स्कूल का संचालन व मध्याह्न भोजन ठीक से चलाने निर्देश दिया गया है। बीईईओ ने मनातू के जलेया एनपीएस, कन्या मवि, स्तरोन्नत उच्च विद्यालय चक, उमवि चक बड़का टोला, उमवि धुमखाड़ व उरुर एनपीस का भी निरीक्षण किया। जलेया एनपीएस में नामंकित 130 में 95 बच्चे व कन्या मवि मनातू में 135 में 93 बच्चे उपस्थित पाए गए। बीईईओ ने स्कूल में बच्चों की उपस्थिति बढ़ाने का दिशा निर्देश दिया।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप