संवाद सहयोगी, मेदिनीनगर (पलामू) : स्वास्थ्य विभाग की ओर से चलाए जा रहे फाइलेरिया उन्मूलन सप्ताह का पलामूवासी लाभ उठाएं। फाइलेरिया बीमारी काफी पीड़ादायक होती है। इस बीमारी से प्रभावित अंग गंभीर रूप से फूल जाते हैं। इससे व्यक्ति को काफी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। फाइलेरिया रोधी दवा का सेवन कर फाइलेरिया से बचा जा सकता है। उक्त बातें पलामू के उपविकास आयुक्त मेघा भारद्वाज ने कही। वे सोमवार को मेदिनी राय मेडिकल कालेज अस्पताल परिसर में फाइलेरिया उन्मूलन सप्ताह के उदघाटन समारोह को संबोधित कर रही थीं। इससे पहले डीडीसी के अलावा सिविल सर्जन डा अनिल कुमार सिंह, एसडीओ राजेश कुमार साह आदि ने संयुक्त रूप से दीप जलाकर कार्यक्रम का आगाज किया। डीडीसी ने कहा कि फाइलेरिया उन्मूलन सप्ताह के अंतर्गत चलाए जाने वाले मास ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन कार्यक्रम के तहत लोग फाइलेरिया की दवा खाकर स्वयं को फाइलेरिया से सुरक्षित व पलामू जिला को फाइलेरिया से मुक्त कराएं। सिविल सर्जन डा अनिल कुमार सिंह ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग की ओर से फाइलेरिया उन्मूलन कार्यक्रम 30 जुलाई तक चलाया जाना है। इसके अंतर्गत मास ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन कार्यक्रम के तहत दो साल से ऊपर के सभी लोगों को फाइलेरियारोधी दवा खिलाई जाएगी। विभाग की ओर से लक्ष्य निर्धारित किया गया है कि 18 लाख 19 ह•ार 441 लोगों को नि:शुल्क फाइलेरिया का दवा दें। कार्यक्रम के लिए जिले के 1780 गांव में 2145 बूथ बनाए गए हैं। जिला मलेरिया पदाधिकारी डा एमपी सिंह ने कहा कि समन्वय बनाकर अभियान को सफल बनाना है। इसकी तैयारी पूरे जिले में विभाग की ओर से की गई है।

Edited By: Jagran