आय से ग्रामीण क्षेत्रों का विकास है जिला परिषद का उद्देश्य: डीडीसी जिला परिषद कार्यकारी समिति की बैठक में लिया गया फैसला फोटो 14 डालपी 09

कैप्शन: जिला परिषद की कार्यकारी समिति की बैठक में उपस्थित डीडीसी व अन्य

संवाद सहयोगी, मेदिनीनगर (पलामू) : जिला परिषद की दुकानों का पिछले कई महीनों से किराया नहीं देने वाले दुकानदार अगले एक माह के अंदर पिछला पूरा बकाए राशि का भुगतान नहीं करते है तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। यह निर्णय जिला समाहरणालय के डीआरडीए सभागार में आयोजित जिला परिषद की कार्यकारी समिति की बैठक में लिया गया। उप विकास आयुक्त सह मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी जिला परिषद मेघा भारद्वाज ने कहा कि जिला परिषद के राजस्व की स्थिति खराब है। इस स्थिति में जिला परिषद को अपने आय के स्त्रोत को बढ़ाना होगा। उन्होंने जिले भर में बनाए गए जिला परिषद की दुकानों व अन्य भवनों की वस्तु स्थिति के बारे में जानकारी ली। सदस्यों ने उप विकास आयुक्त को जिलेभर में मौजूद जिला परिषद के जमीन पर बनाए गए भवनों के बारे में अवगत कराया। कहा कि प्राप्त आय से ग्रामीण क्षेत्रों का विकास ही जिला परिषद का उद्देश्य है। ऐसे में जरूरी यह है कि ग्रामीणों के लिए लाभकारी योजनाओं को प्राथमिकता मिलनी चाहिए। इसे लेकर पेयजल स्वच्छता व स्वास्थ्य संबंधित योजनाओं को लिया जाना चाहिए। इसी तरह जिला परिषद के आय से आंगनबाड़ी केंद्रों व सरकारी स्कूलों को सु²ढ़ करने की योजनाओं को प्राथमिकता पर जोर दिया गया। बैठक में 15 वें वित्त आयोग मद अंतर्गत वित्तीय वर्ष 2020- 21 में ली गई योजनाओं की प्रगति व वित्तीय वर्ष 2021-22 में लिए जाने वाली योजनाओं कि चर्चा की गई। बैठक में कार्यकारी समिति जिला परिषद की प्रधान प्रभा देवी, डीआरडीए निदेशक स्मिता टोप्पो, जिला कल्याण पदाधिकारी सुभाष कुमार, जिला परिषद सदस्य, सांसद प्रतिनिधि, कनीय अभियंता सहित डीआरडीए के पदाधिकारी व कर्मचारी मौजूद थे।

Edited By: Jagran