ज्ञान विज्ञान समिति के तत्वावधान में प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन

जिले के 578 लोग हुए शामिल, वैक्सीन को ले न रहें किसी भ्रम में

संवाद सूत्र, मेदिनीनगर (पलामू) : ज्ञान विज्ञान समिति के तत्वाधान में कोरोना महामारी को ले शुक्रवार को वर्चुअल प्रशिक्षण का आयोजन हुआ। इसमें पलामूवासियों को कोरोना वैक्सीन लेने के प्रति जागरूक किया गया। पलामू जिले के पंचायतों से 578 लोग शामिल हुए। देश के वैज्ञानिक डा. सत्यजीत रथ ने कहा कि कोरोना वैक्सिन को लेकर लोगों में मन में दुविधा हो गई। इसे दूर करने की आवश्यकता है। कहा कि कोरोना वैक्सीन लेने से न तो बांझपन होता है और न ही नपुंसकता। कोरोना अभी दुश्मन के रूप में सामने खड़ा है। उसे हराने के लिए कोरोना का टीका लगवाना सभी के लिए जरूरी है। जन स्वास्थ्य अभियान के डा. टी सुंदर रमन ने कहा कि कोरोना संक्रमित होने पर घबराना नहीं चाहिए। प्रोटोकाल का पालन कर संक्रमण को खत्म किया जा सकता है। समिति के स्वास्थ्य उप समिति संयोजक डा. ओपी भुरेठा ने कहा कि वैज्ञानिक ²ष्टिकोण अपनाना होगा। लोगों को शिक्षित करना होगा। समिति के राष्ट्रीय महासचिव डा. काशीनाथ चटर्जी ने कहा कि कोविड महामारी के समय में समिति का दायित्व बढ़ गया है। समाज में फैले अंधविश्वास, भ्रांतियां, गैर वैज्ञानिक सोच के धारणाओं को तोड़ना होगा। झारखंड के अध्यक्ष शिव शंकर प्रसाद ने कहा कि कोरोना महामारी ने मानव जाति के अस्तित्व पर खतरा खड़ा कर दिया है। ऐसे में हमें वैज्ञानिक ²ष्टिकोण से बचाव का उपाय ढूंढना होगा। समिति के संयोजक असीम सरकार ने कहा कि समिति राज्य में लोगों को जागरूक करने के लिए 50 हजार जन वैज्ञानिकों को प्रशिक्षित कर रहा है। प्रशिक्षण में पलामू जिला का नेतृत्व राज्य उपाध्यक्ष रामानुग्रह सि, सचिव भोलानाथ राम, जिला अध्यक्ष गोपाल प्रसाद सिंह, शशि कला कुमारी ,रामराज सिंह, रंजन कुमार ,उदय यादव, अनिता मिश्रा, शशि भूषण गिरी, सूर्य नाथ पांडे, सुलेमान अंसारी, प्रमोद कुमार सिंह, संजय कुमार रवि ,धर्मेंद्र कुमार आदि शामिल थे।

Edited By: Jagran