इसी को लीड लगाएं

पड़वा मोड़ के निकट हुई दुर्घटना, मेदिनीगर आ रही थी यात्री बस, आधा दर्जन लोग जख्मी र्कैप्शन: क्षतिग्रस्त बस व जुटे लोग,

जाटी, मेदिनीनगर/ नावाबाजार (पलामू) : पलामू जिले में लगातार तीसरे दिन शुक्रवार को सड़क हादसे में दो लोगों की मौत हो गई। आधा दर्जन यात्री घायल हो गए हैं। शुक्रवार को नावाबाजार थाना क्षेत्र अंतर्गत तुकबेरा पेट्रोल पंप के निकट एनएच 98 पर खड़े ट्रक से चुन्नराज नामक यात्री बस टक्करा गई। इस घटना में बस के केबिन में बैठे दो यात्रियों की घटनास्थल पर ही मौत हो गई। आधा दर्जन यात्री गंभीर रूप से घायल हो गए। मृतकों में पलामू जिला के पाटन थाना क्षेत्र अंतर्गत किशुनपुर निवासी स्व लखन भुइयां का 44 वर्षीय पुत्र कृष्णा भुइयां व बिहार के औरंगाबाद जिले अंतर्गत टंडवा थाना क्षेत्र के पांडू गांव निवासी नरेश सिंह का 45 वर्षीय पुत्र विनोद सिंह का नाम शामिल है। कई यात्रियों को प्राथमिक उपचार के बाद घटना स्थल से ही छोड़ दिया गया। गंभीर रूप से जख्मी 4 यात्रियों को इलाज के लिए मेदनी राय मेडिकल कालेज अस्पताल में भर्ती कराया गया हैं। इन घायलों में औरंगाबाद के टंडवा थाना क्षेत्र अंतर्गत पांडू गांव निवासी शालिग्राम सिंह का 26 वर्षीय पुत्र राहुल सिंह, पलामू जिला के पीपरा गांव निवासी परिमन सिंह की 55 वर्षीया पत्नी पूनम देवी, नरेश सिंह की 60 वर्षीया पत्नी सुकती देवी, उमेश सिंह व सत्येंद्र सिंह का 18 वर्षीय पुत्र सुदामा सिंह का नाम शामिल है। सूचना के बाद मौके पर पहुंची नावा बाजार थाना पुलिस ने गैस कटर से काटकर बस से दोनों शव को बाहर निकाला। किरान लगाकर दुर्घटनाग्रस्त बस को सड़क के किनारे किया। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है। जानकारी के अनुसार पलामू जिले के पिपरा इलाके से उक्त यात्री बस यात्रियों को लेकर मेदिनीनगर जा रही थी। बस नावाबाजार थाना क्षेत्र के पड़वा पेट्रोल पंप के पास पहुंची कि सड़क किनारे खड़े एक ट्रक से जोरदार टक्कर हो गई। टक्कर इतनी जोरदार थी कि बस का केबिन वाला हिस्सा ट्रक के पीछे के हिस्से में जा घुसा। इस कारण केबिन में बैठे दो यात्रियों की घटना स्थल पर ही मौत हो गई। एक किशोरी का पैर केबिन के इंजन में फंस गया। किसी तरह किशोरी का पैर निकालकर उसे इलाज के लिए भेजा गया। घटना की सूचना मिलने पर नावा बाजार थाना प्रभारी लालजी यादव दल बल के साथ घटना स्थल पर पहुंचे। गंभीर रूप से घायलों को निजी वाहन से मेदिनी राय मेडिकल कालेज अस्पताल में भेजा। मामूली रूप से जख्मी यात्रियों को मौके पर ही इलाज कराया। साथ ही ग्रामीणों की मदद से गैस कटर से काटकर केबिन के हिस्से को अलगकर मृतकों के शवों को बाहर निकाला। दोनों शव का अंत्यपरीक्षण मेदिनी राय मेडिकल कालेज अस्पताल में हुआ। इसके बाद पुलिस ने स्वजनों को शव सौंप दिया। साथ ही उनकी पहचान के लिए छानबीन कर रही है। घटना के बाद बस का चालक फरार बताया जाता है। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि ट्रक कई घंटे से पड़वा मोड़ के पेट्रोल पंप के बाहर मुख्य पथ पर खड़ा था।