मेदिनीनगर : सत्य व न्याय की रक्षा को हजरत हुसैन आली मुकाम ने अपने कुनबे के साथ खुद को कुर्बान कर दिया। इनकी याद में मनाया जाने वाला मुहर्रम हक व इंसाफ पर चलने का पैगाम देता है। उक्त बातें सुबे के पूर्व मंत्री केएन त्रिपाठी ने कहीं। वे बुधवार को स्थानीय चौक बाजार मस्जिद के निकट मुहर्रम इंतेजामिया कमेटी के जिला कार्यालय के उद्घाटन समारोह में बोल रहे थे। कहा कि इमाम हुसैन सत्य और न्याय की लड़ाई लड़ी। उन्होंने असत्य को कभी स्वीकार नहीं किया। अन्याय व अधर्म के खिलाफ सिर को कभी झुकने नहीं दिया। हमें उनके बताए मार्ग पर चलने की जरूरत है। इससे धर्म और इंसानियत बचेगी। इससे पूर्व उन्होंने फीता काटकर कार्यालय का उदघाटन किया।

मौके पर मुहर्रम इंतजामिया कमेटी ने त्रिपाठी को पगड़ी व माला पहनाकर स्वागत किया । कार्यक्रम की अध्यक्षता मुहर्रम इंतेजामिया कमेटी जनरल खलीफा जीशान खान ने की। संचालन कमेटी के सचिव वसीम खान ने किया। मौके पर मुहर्रम इंतेजामिया कमेटी की ओर से महावीर नवयुवक दल के अध्यक्ष प्रभात उदयपुरी, उपाध्यक्ष अर¨वद अग्रवाल व दीपू चौरसिया, महामंत्री विजय ओझा, संरक्षक दुर्गा जौहरी व गणेश गिरी को माला व पगड़ी पहनाकर सम्मानित किया। मौके पर कई वक्ताओं ने ¨हदू-मुस्लिम एकता व आपसी भाइचारगी पर बल दिया। मौके पर मुहर्रम इंतेजामिया कमेटी के मुख्य सरपरस्त राशिद अहमद सिद्दीकी, अंजुमन इस्लाहुल मुस्लिेमीन कमेटी के पलामू सदर हाजी शमीम अहमद ने कार्यक्रम का संचालन किया। इसमें इमामउद्दीन खान, नेयाज अहमद, नूर मोहम्मद उर्फ तुलु, जेया अनवर खान, बिलाल खान,अनवर अंसारी, आदिल गनी, हिक्मतयार अली, मुख्तार हुसैन, मो अली, कौशल दुबे सहित काफी संख्या में कमेटी के सदस्य व सम्मानित लोग उपस्थित थे।

Posted By: Jagran