जागरण संवाददाता, मेदिनीनगर : लोक अदालत वैकल्पिक विवाद निपटारे का सशक्त मंच है। निपटाए गए विवाद में हार-जीत नहीं होती। उक्त बातें पलामू के प्रभारी प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश पंकज कुमार द्वितीय ने कही। वे शनिवार को पलामू जिला व्यवहार न्यायालय परिसर में आयोजित लोक अदालत के उद्घाटन समारोह में बोल रहे थे। इससे पूर्व उन्होंने दीप जलाकर लोक अदालत का उदघाटन किया। कहा कि लोक अदालत में मामले निस्तारण से समय, शक्ति व पैसे की बचत होती है। यहां दोनों पक्ष आपसी रजामंदी से मामले निपटाते है। इसलिए उनके बीच बनी वैमनस्यता हमेशा के लिए मिट जाती है। कहा कि लोक अदालत में मामले निस्तारण से भाईचारगी बढ़ जाती है।

लोक अदालत में 131 मामले का निस्तारण किया गया। 75 लाख 74 हजार 631 रुपये का मामला सेटल हुआ। 32 लाख 48 हजार 849 रूपए की वसूली हुई। मामले निस्तारण को ले आठ पीठों का गठन किया गया था। पलामू जिला विधिक सेवा प्राधिकार के सचिव अशोक कुमार ने सभी को इस न्यायालय में मासिक लोक अदालत के माध्यम से अपने वादों का सुलभ न्याय प्राप्त करने का आह्वान किया। मौके पर डीजे बीके तिवारी, शत्रुंजय सिंह, मनीष रंजन, पीएन पांडेय, संतोष कुमार, अमरेश कुमार, श्याम लाल सरोज, अशोक कुमार, मनोज कुमार, अमित गुप्ता, एमजेड तारा,सफदर अली नैय्यर, दीपक कुमार आदि उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस