पलामू, जागरण संवाददाता। दो महिलाओं के बीच इश्क की कहानी कभी-कभी ही सामने आती है। पलामू जिले के हुसैनाबाद महिला थाने में एक कहानी सामने आई है। हालांकि, इस प्यार को लोग पागलपन का नाम देते हैं। इस प्यार को हासिल करने के लिए रांची जिले के टकरा गांव की दो बच्चों की मां पलामू जिले के हुसैनाबाद पहुंच गई। मामला महिला थाने में पहुंचा। पुलिस और स्वजन के समझाने के बाद युवती अपने घर लौटने के लिए राजी हो गई। जब वह चली गई तो रांची की महिला ने उसे बेवफा करार देते हुए थाने से अपने घर जाने को मजबूर हुई।

मौसी के घर आई थी युवती, पहुंच गई महिला

बिहार के औरंगाबाद जिले के डिबरा थाना क्षेत्र की रहने वाली युवती अपनी मौसी के घर हुसैनाबाद आई थी। रांची की महिला को जब पता चला कि उसकी दोस्त हुसैनाबाद में अपने मौसी के घर है तो वह पहुंच गई। युवती को अपने साथ ले जाने की जिद पर अड़ गई। स्वजन इसके लिए तैयार नहीं थे। इसके बाद युवती ने मंगलवार को अपने मोबाइल फोन से हुसैनाबाद थाना को सूचना दी कि उसके साथ मारपीट की जा रही है। तुरंत पुलिस पहुंची। पूरे मामले की जानकारी मिलने के बाद दोनों को लेकर हुसैनाबाद महिला थाना पहुंची। इसके बाद दोनों के स्वजन भी थाने पहुंचे। दोनों को समझाने का सिलसिला शुरू हुआ। देर शाम तक चलता रहा। पुलिस ने युवती को समझाया कि शादीशुदा महिला के साथ तुम अपना जीवन बर्बाद करने पर क्यों तुली हुई हो। इसके बाद वह स्वजनों के साथ अपने घर चली गई। अंत में निराश होकर रांची की महिला भी अपने घर जाने को मजबूर हो गई।

इस तरह रांची की महिला से संपर्क में आई युवती

पुलिस के अनुसार औरंगाबाद की युवती लापता हो गई थी। स्वजनों ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी। बाद में वह रांची के खेलारी में महिला को मिली। महिला अपने घर लेकर गई। इसी दौरान महिला और युवती के बीच समलैंगिंक प्यार पनप गया। महिला युवती को छोड़ने को तैयार नहीं थी। युवती चुपके से अपने मौसी के घर आ गई थी। उसका पीछा करते महिला भी पहुंच गई। फिर मामला थाने तक पहुंची।

महिला व युवती एकसाथ रहना चाहती थी : पुलिस

हुसैनाबाद महिला थाना की प्रभारी सुरबाला भृंगराज ने दैनिक जागरण से बातचीत में कहा कि महिला और युवती दोनों एक साथ रहना चाहती थी। लेकिन पुलिस के समझाने के बाद युवती अपने घर चली गई। इसके बाद महिला भी रांची चली गई।

Edited By: M Ekhlaque

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट