पलामू, जासं। रांची-खूंटी सीमा पर नक्सलियों से लोहा लेते हुए शहीद हुए जवान अखिलेश राम शनिवार की सुबह पंचतत्व में विलीन हो गए। लेस्लीगंज प्रखंड के कुंदरी बाजार स्थित शहीद जवान के आवास से उनकी अंतिम यात्रा निकाली गई। इस दौरान प्रखंड क्षेत्र से बड़ी संख्या में लोग अंतिम यात्रा में शामिल हुए। पुरुष के साथ सैकड़ों महिलाएं भी घर से निकल पड़ी। कुंदरी के श्मशान घाट पर शहीद के शव को जैसे ही रखा गया, पूरा श्मशान घाट शहीद के नारों से गूंजने लगा।

लोग शहीद अखिलेश अमर रहे, अखिलेश तेरे अरमानों को मंजिल तक पहुंचाएंगे, जब तक सूरज चांद रहेगा-अखिलेश तेरा नाम रहेगा आदि नारे लगा रहे थे। इन सबके बीच अखिलेश के पिता बिफन मांझी ने अपने शहीद पुत्र को मुखाग्नि दी। मौके पर पांकी विधायक देवेंद्र कुमार सिंह, भाजपा नेता शशि भूषण मेहता, मुखिया जितेंद्र शुक्ला, जिप सदस्य पूर्वी किरण देवी, पुलिस एसोसिएशन के अध्यक्ष मंगल सिंह सोय, मंत्री जय प्रकाश सिंह, पुलिस मेंस एसोसिएशन के अध्यक्ष अक्षय कुमार पासवान, उपाध्यक्ष नरेंद्र कुमार सिंह, पूर्व अध्यक्ष लालेश्वर राम मौजूद थे। इस मौके पर कई लोगों ने शहीद की चिता को पंच लकड़ी देते हुए श्रद्धांजलि अर्पित की।

Posted By: Sujeet Kumar Suman

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप