पलामू, [तौहीद रब्बानी]। पलामू लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान शिक्षकों की गड़बड़ सूची सौंपने के मामले में पलामू के उपायुक्त डॉ. शांतनु कुमार अग्रहरि ने जिले के चार  बीईईओ को 100-100 फलदार पौधे लगाने की सजा सुनाई थी। पौधा लगाने की समय सीमा एक माह तय की गई थी। एक माह बाद सभी पौधों के लगने के सबूत के तौर पर इसकी जीओ टैगिंग कर पलामू के उपायुक्त डॉ. शांतनु कुमार अग्रहरि को भेजना था। अब सजा की अवधि समाप्त हो चुकी है, लेकिन अबतक चारों अधिकारियों ने एक भी पौधा नहीं लगाया गया है। ऐसे में चर्चा आम है कि बीईईओ डीसी के आदेश के आदेश का भी अनुपालन नहीं करते।

जानकारी के अनुसार तरहसी के बीईईओ सुरेश चौधरी सभी स्कूल के प्रधानाध्यापकों को पौधा लगाने का निर्देश जारी कर इलाज कराने दिल्ली चले गए हैं। इधर विश्रामपुर बीईईओ सुनेश्वर चौधरी हार्ट का ऑपरेशन कराने के लिए 25 दिन से दिल्ली में हैं। छतरपुर के बीईईओ जय कुमार तिवारी व सदर प्रखंड के बीईईओ प्रेम प्रकाश पांडेय बारिश के इंतजार में थे। इन दोनों ने कहा कि इसी सप्ताह पौधे लगाएंगे। मालूम हो कि सजा पाने वाले बीईईओ में विश्रामपुर प्रखंड के सुनेश्चर चौधरी, तरहसी के सुरेश चौधरी, छतरपुर के जय कुमार तिवारी व सदर प्रखंड के बीईईओ  प्रेम प्रकाश पांडेय शामिल हैं।

पलामू उपायुक्त शांतनु अग्रहरि की ओर से चार बीईईओ को 100-100 पौधे लगाने के दंड अनोखा और लोगों को प्रेरणा देने वाला था। लोगों में यह खासा चर्चा का विषय बना। लोगों की ओर से कहा गया कि पर्यावरण संरक्षण की दिशा में उपायुक्त डॉ. अग्रहरि ने अधिकारी व कर्मचारियों को एक नई राह दिखाई है। दोषियों को दंड मिले और इसका लाभ आम जनमानस को मिले। इससे अच्छी और प्रेरणादायक सजा और क्या हो सकती है।

बीईईओ ने अब तक पौधरोपण क्यों नहीं किया है, इससे संबंधित रिपोर्ट विभाग से मांगी गई है। इसके बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। बिंदुमाधव प्रसाद सिंह, पलामू के डीडीसी सह प्रभारी डीसी।

Posted By: Alok Shahi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप