संवाद सूत्र, पाटन, पलामू : पाटन थाना के किशुनपुर ओपी में रविवार को शांति समिति की बैठक हुई। इसमें दोनों समुदाय मिलजुलकर रहने की प्रतिबद्धता दुहराई। दोनों समुदाय के वरीय समाजसेवियों ने किसी भी हाल में विवाद उत्पन्न नहीं करने का प्रशासन को भरोसा दिलाया। बताते चलें कि मामला दो दिन पूर्व का है। इसमें प्रतिबंधित मांस फेंके जाने को लेकर विवाद बढ़ गया था। साथ ही एक समुदाय ने कार्रवाई नहीं करने पर ओपी प्रभारी को शनिवार को बंधक बना लिया था। इधर रविवार को प्रशिक्षु आइएएस दिलीप शेखावत ने कहा कि कानून को सभी लोग सम्मान करें। इसे कोई अपने हाथों में न लें। दोनों समुदाय शांति से रहें। पुलिस का काम है शांति व्यवस्था स्थापित करना। सदर एसडीओ सुरजीत सिंह ने कहा कि गलत कार्यों में संलिप्त रहने वाले व कानून अपने हाथ में लेने वाले दोनों पर पुलिस अवश्य कार्रवाई करेगी। सभी व्यक्ति प्रशासन की मदद करें। आवश्यक सूचना पुलिस तक पहुंचाएं। पुलिस जरूर मदद करेगी। हर हाल में कार्रवाई होगी। एसडीपीओ संदीप गुप्ता ने कहा कि गलत कार्य में संलिप्त लोगों पर पुलिस की पैनी नजर रहेगी। गलत कार्य करने वाले पुलिस के हाथों बच नहीं पाएंगे। बैठक में पाटन थाना के सर्किल पुलिस इंस्पेक्टर आनंद मिश्रा, थाना प्रभारी आसिफा, बीडीओ प्रभाकर मिर्धा, सीओ विमल सुरेंद्र, ओपी प्रभारी श्रवन मांझी, प्रशिक्षु दरोगा राहुल कुमार सिंह, रोबिन कुमार, सहायक अवर निरीक्षक सुरेश पासवान, प्रदीप राम के अलावे दोनों पक्षों में किशुनपुर पंचायत के पूर्व मुखिया धीरेंद्र उपाध्याय, कृष्णा उपाध्याय, प्रकाश चंद्र द्विवेदी, विनोद उपाध्याय, बलराम दुबे, बबलू उपाध्याय, शशिकांत उपाध्याय, राजीव रंजन उपाध्याय, खुर्शीद अंसारी, अविनाश कुमार सिंह, संजय सिंह, लक्ष्मण राम, मुखिया लक्ष्मण राम, मुखिया महेंद्र पांडेय, हरि मियां, खुर्शीद अंसारी, मकबूल अंसारी, ईद मोहम्मद अंसारी मुख्तार समय दोनों समुदाय के अन्य लोग मौजूद थे।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस