पांकी (पलामू), जेएनएन। भाजपानीत गठबंधन की सरकार ने देश व राज्य में लोकतंत्र व संविधान को आतंकित कर रखा है। अब जरूरत है केंद्र व राज्य की सरकार को उखाड़ फेंकने की। उक्त बातें पूर्व मुख्यमंत्री व झाविमो सुप्रीमो बाबूलाल मरांडी ने कही। वे सोमवार को भाजपा का पोल खोल हल्ला बोल, चोर मचाए शोर कार्यक्रम के तहत पांकी के रामजानकी ठाकुरबाड़ी मंदिर के समीप आयोजित सभा को संबोधित कर रहे थे।

इस मौके पर उन्होंने कहा कि झाविमो के आठ विधायकों में से छह को मंत्री पद और पैसों का प्रलोभन देकर भाजपा में शामिल कराया। इसमें दो को मंत्री व शेष चार विधायकों को बोर्ड चैयरमैन बनाया व करोड़ों रुपये दिए गए। संविधान की 10 वीं अनुसूची में लिखा हुआ है कि जो जिस दल से चुनाव जीतकर आया है, उसी अनुरूप रहना है। अन्यथा उसकी सदस्यता समाप्त हो जाएगी। बावजूद इसके सरकार ने जानबूझकर मामले की लीपापोती की। भाजपा से लोकतंत्र व संविधान को खतरा है।

उनके मुताबिक, भाजपा की केंद्र व राज्य सरकार झूठ का पुलिंदा है। मोदी जी ने चुनाव के दौरान कहा था। हमारी सरकार बनी तो काला धन वापस लाएंगे। दो करोड़ लोगों को नौकरी दी जाएगी। बावजूद जनता से किए गए एक भी वायदे सरकार ने पूरा नहीं किया। राज्य में 70 प्रतिशत बाहरी लोगों को नौकरी दी गई। चारों ओर भ्रष्टाचार का बोलबाला है। चतरा संसदीय क्षेत्र हो या अन्य कोई, भाजपा हमेशा राज्य के लोगों के साथ छल करती आ रही है। आज तक बाहरी लोगों ने ही चतरा का प्रतिनिधित्व किया।

इस मौके पर केंद्रीय प्रवक्ता योगेंद्र प्रताप सिंह, खालिद खलील, नीलम देवी, मुमताज अहमद खां आदि ने सभा को संबोधित किया। धन्यवाद ज्ञापन जेवीएम प्रखंड अध्यक्ष दशरथ बड़ाइक ने किया। 

Posted By: Sachin Mishra