संवाद सूत्र, विश्रामपुर : इन दिनों समाज में बच्चियों के साथ हो रहे जघन्य वारदातों ने पूरे देश को हिला कर रख दिया है। एक के बाद एक मासूमों की अस्मत लुटते हुए उनकी हत्या की खबरों ने बच्चियों की सुरक्षा पर सवालिया निशान लगा दिया। यहां तक कि महिलाएं क्या नन्हीं बच्चियां भी सुरक्षित नहीं हैं। ऐसे में हम सभी को बालिकाओं की सुरक्षा को ले जिम्मेदारी निभानी होगी। उक्त बातें रेहला थाना प्रभारी अभिजीत गौतम ने कही। वे पत्रकारों से बात कर रहे थे। कहा कि बालिकाओं के प्रति हो रही हिसा के विरूद्ध सामुदायिक सहभागिता से जनजागरूकता अभियान चलाने की जरूरत है। कहा कि कोई भी बच्ची अपने पिता के पास हर वक्त नहीं हो सकती। आप किसी और कि बच्ची को सुरक्षा उपलब्ध कराएं। कहीं कोई और आपकी भी बहन-बेटी की सुरक्षा उपलब्ध कराएगा। लोगों से अपील की कि जरूरत पड़ने पर पुलिस का सहयोग लें। कहा कि समाज में दरिदगी रोकने के लिए पुलिस पदाधिकारियों समेत समाज के हर एक व्यक्ति को सुरक्षा के लिए कमर कसकर तैयार होना होगा। आम लोगों का सहयोग अपेक्षित है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप