मेदिनीनगर : ग्रामीण डाक सेवकों को केंद्रीय कर्मचारी का दर्जा प्रदान करना होगा। एनजेसीए की प्रस्तुत सातवें वेतन आयोग संबंधित मांगों को पूरा किया जाना चाहिए। उक्त बातें अखिल भारतीय डाक कर्मचारी संघ ग्रुप सी के सचिव उमाशंकर शर्मा भट्ट ने कही। वे शुक्रवार को प्रधान डाकघर के समक्ष आयोजित धरना को संबोधित कर रहे थे।

सात सूत्री मांगों के समर्थन में आयोजित धरना का नेतृत्व अखिल भारतीय डाक कर्मचारी संघ ग्रुप सी व अखिल भारतीय डाक कर्मचारी संघ पोस्टमैन एवं एमटीएस के नेताओं ने किया। इस दौरान धरना मौजूद लोगों ने सरकार के कर्मचारी विरोधी नीतियों के खिलाफ व अपनी मांगों के समर्थन में जमकर नारेबाजी की। डा विभाग के विभिन्न कैडरों का वेतन उत्क्रमित करने, सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों को लागू करने के पूर्व कैडर पुनरीक्षण समझौते को लागू करने, विशेष भर्ती अभियान के द्वारा डाक विभाग में खाली पड़े सभी पदों को शीघ्र भरने, सीबीएस एवं सीआईएस के लागू होने से उत्पन्न समस्याओं का समाधान करने आदि मांगें शामिल हैं।

मौके पर गणेश मेहता, विजय कुमार द्विवेदी, कृष्णा राम, गिरिवर ¨सह, कुशवाहा, राम उरांव, सुधीर कुमार ¨सह, विश्वनाथ प्रजापति, उत्तम कुमार, सुभाषचंद्र पांडेय, दामोदर ¨सह, ज्ञान कुजूर, महेंद्र ठाकुर आदि उपस्थित थे।