संवाद सूत्र, हिरणपुर(पाकुड़): सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र हिरणपुर में कार्यरत दर्जनों कर्मियों को बीते 6 माह से मानदेय नहीं मिल रहा है। यहां के कर्मचारी बिना मानदेय के काम कर रहे हैं। इसको लेकर कार्यरत कर्मियों ने संबंधित रांची के राइडर कम्पनी के प्रति नाराजगी जताई है। वर्ष 2017 में फ्रंट लाइन कम्पनी रांची के द्वारा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में करीब 17 झाडूदार, 15 गार्ड सहित एएनएम व जेएनएम की बहाली की गई थी। जिसमें प्रखंड के ही गरीब लोगों को जोड़ा गया था। इसमें झाडूदार को मासिक मानदेय 5400 व गार्ड को 5800 रुपये तय किया गया था। कम्पनी के द्वारा पूर्व में सभी कर्मियों को नियमित मानदेय दिया जा रहा था। इसके बाद राइडर कम्पनी द्वारा इस कार्य को अपने हाथों में लिया गया। पर बीते सितंबर 2019 से अभी तक सभी कर्मियों को मानदेय नहीं दिए जाने से भुखमरी की स्थिति आ चुकी है। कार्यरत कर्मी मोनू हाजरा, मोहनलाल भंडारी, उज्ज्वल कुमार दास, बजल हांसदा, टिकू ठाकुर, मनोज यादव, सीमा हांसदा, निजामुद्दीन अंसारी, मनोज साहा, विजय प्रसाद ,नाथीना हांसदा, रीना बागती, कल्पना बागती, मीना बागती आदि ने दुखड़ा सुनाते हुए बताया कि बहाली के बाद से ही हम चिकित्सा प्रभारी डा. मिहिर कुमार के निर्देश पर नियमित रूप से स्वास्थ्य केंद्र में ड्यूटी करते आ रहे हैं। कई कर्मी डांगापाड़ा स्थित स्वास्थ्य केंद्र में भी कार्यरत है। पर हमें बीते छह माह से मानदेय नहीं दिए जाने से परिवार के भरणपोषण में काफी दिक्कतें आ रही है। इसको लेकर स्वास्थ्य विभाग के पदाधिकारियों से भी गुहार लगाई गई है। परंतु अभी तक मानदेय नही मिला है। उधर चिकित्सा प्रभारी डॉ. मिहिर कुमार ने बताया कि इस संबंध में कम्पनी के सुपरवाइजर मनोज शर्मा ही विस्तृत जानकारी दे सकते हैं। कम्पनी का कोई संपर्क नंबर उपलब्ध नहीं है । कोट

------------- इसकी जानकारी मिली है। कर्मियों के मानदेय भुगतान में देरी करना काफी गलत है। इसको लेकर संबन्धित कम्पनी को अवगत कराकर जल्द ही मानदेय भुगतान कराया जाएगा। डॉ. रामदेव पासवान

सिविल सर्जन, पाकुड़

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस