फोटो नंबर 12पीकेआर 8 में - बाल संसद पुर्नगठन व सशक्तिकरण पर जिलास्तरीय कार्यशाला का आयोजन -22 अक्टूबर को होगा शपथ ग्रहण संवाद सहयोगी, पाकुड़ : आकांक्षी जिला योजना (शिक्षा प्रक्षेत्र) अंर्तगत विद्यालयों में बाल-संसद का पुर्नगठन एवं सशक्तिकरण को लेकर स्थानीय मध्य विद्यालय धनुषपूजा में शनिवार को जिलास्तरीय प्रशिक्षण कार्यशाला का आयोजन किया गया। इस कार्यशाला में जिले के सभी प्रखंड के संकुल साधनसेवी, परियोजना कर्मी व पीरामल फाउंडेशन के प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया।

इसमें प्रशिक्षक नेहा कंचन ने प्रोजेक्टर के माध्यम से बाल संसद के पुर्नगठन व सशक्तिकरण से संबंधित जानकारी दी। सीआरपी व बीआरपी को बाल संसद के पुर्नगठन के संबंध में विस्तार से जानकारी दिया गया। उन्होंने बताया कि छात्रों में नेतृत्व विकास के साथ-साथ उन्हें लोकतांत्रिक प्रक्रिया से अवगत कराने और विद्यालय संचालन व्यवस्था में छात्रों का योगदान सुनिश्चित करने के उद्देश्य से बाल संसद का पुर्नगठन किया जा रहा है। विद्यालय विकास में संसद की महत्वपूर्ण है। बाल संसद के पुर्नगठन हेतु चुनाव प्रक्रिया, गठन, मंत्रिमंडल, बाल सभा व संसद के सशक्तिकरण के महत्वपूर्ण बिदुओं पर जानकारी दी गई। मंत्रिमंडल कार्य एवं दायित्वों से भी अवगत कराया गया। बीआरपी व सीआरपी प्रशिक्षण प्राप्त कर अपने-अपने प्रखंडों में प्रधान शिक्षकों को प्रशिक्षण देंगे।

इस मौके पर एपीओ एमलीन सुरीन, ईप्सिता तिर्की, पीरामल फाउंडेशन के विवेक कुमार, नेहा कंचन, अमित कुमार, राजेंद्र राठौर, आदि मौजूद थे।

बाल संसद पुर्नगठन की प्रक्रिया - 14 अक्टूबर को प्रधान शिक्षकों का प्रशिक्षण

-15 अक्टूबर छात्र-छात्राओं को पुर्नगठन की जानकारी

-16अक्टूबर को छात्र-छात्राओं द्वारा बाल संसद हेतु नामांकन पत्र भरना

-17 अक्टूबर बाल संसद उम्मीदवार प्रचार-प्रसार

-18 अक्टूबर बाल संसद के लिए चुनाव, मतगणना एवं परिणाम की घोषणा

21 अक्टूबर विजयी उम्मीदवारों का शपथ ग्रहण

22 अक्टूबर को बाल संसद का प्रशिक्षण

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप