- फोटो नंबर 11 पीकेआर 2, 3, 7, 10, में

- पाकुड़िया में घाटों की स्थिति दयनीय

संवाद सहयोगी, पाकुड़: लोक आस्था के महापर्व छठ को लेकर पूरे जिले में उत्सव सा माहौल है। चारों ओर छठ के गीत गूंज रहे हैं, जिससे शहर का माहौल भक्तिमय बना हुआ है। रेलवे फाटक, न्यू मार्केट, हाटपाडा, गोकुलपुर आदि स्थानों पर पूजा साम्रगी, फल, डाला, सूप आदि की दुकानों से फल, पूजा सामग्री की खरीदारी शुरु कर दी है। इस महापर्व को लेकर महिलाओं में विशेष उत्साह है। वहीं काली भसान, टीनबंगला, ठाकुरबाड़ी, शीतला मंदिर, ¨सधीपाड़ा, नल पोखर, कूड़ापाड़ा, तलवाडांगा व शहरकोल सहित आसपास के क्षेत्रों में घाटों की सफाई, विद्युत सज्जा व पूजा पंडाल सजाने का काम चल रहा है, जो लोगों के आकर्षण का केंद्र होगा। शहर के ठाकुरबाड़ी व टीनबंगला छठ घाट को आकर्षक तरीके से सजाने का काम चल रहा है। इस दोनों छठ पूजा समितियों में एक दूसरे को पीछे छोड़ने की होड़ लगी हुई है। इधर वार्ड नंबर 11 में वार्ड पार्षद मोनिता कुमारी के नेतृत्व में सफाई अभियान चलाया गया, जिसके तहत कैलाश नगर, बाकती पाड़ा, मालगोदाम रोड सिद्धार्थनगर मोहल्ले की सफाई की गई, जिसमें नगर परिषद के ब्रांड एंबेसडर मिथिलेश ठाकुर, संतु चौधरी सहित दर्जनों युवक शामिल हुए। हिरणपुर: छठ पर्व को लेकर हिरणपुर बाजार स्थित छठ घाट की सफाई समाजसेवी सहदेव साहा के नेतृत्व में की

जा रही है। इस बार छठ घाट में तालाब के बीच में साढ़े पांच फीट ऊंची भगवान

सूर्य की प्रतिमा स्थापित की जाएगी।

पाकुड़िया: महापर्व छठ में महज दो दिन का समय ही शेष रह गया है, लेकिन अब तक पाकुड़िया स्थित तिरपितिया नदी के छठ घाट की सफाई को लेकर प्रशासन की ओर से कोई पहल नहीं की गई है, प्रशासन के इस उदासीन रवैए से पाकुड़ियावासी से असंतोष व्याप्त है। छठ घाट पर गंदगी का अंबार लगा है, घाट का पानी जलकुंभी से पट गया है। साथ ही पीडब्ल्यूडी मुख्य पथ से घाट तक जाने का रास्ता भी सुगम नहीं है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस