पाकुड़ : झारखंड सरकार और दैनिक जागरण संस्थान की ओर से चलाए जा रहे वर्षा जल संचयन अभियान के तहत शुक्रवार को दैनिक जागरण की टीम वार्ड संख्या 4, कुर्थीपाड़ा पहुंची। कुर्थीपाड़ा के लोगों से जल संकट से संबंधित जानकारी ली। मुहल्ले में वार्ड पार्षद रुपाली सरकार की मदद से जल संसद का भी आयोजन किया गया। जल संसद में उपस्थित लोगों ने स्वीकार किया कि बरसात का जल बर्बाद होने से जल संकट उत्पन्न हो गई है। पानी का स्तर काफी नीचे चला गया है। चापाकल और कुआं की स्थिति ठीक नहीं है। लोगों ने माना कि वर्षा जल बचाने के लिए जागरूकता जरूरी है।

दैनिक जागरण की टीम ने वर्षा जल को हर हाल में बचाने की अपील की। लोगों से अपने-अपने घरों में रेन वाटर हार्वेस्टिग सिस्टम लगाने का आग्रह किया। वार्ड पार्षद रुपाली सरकार ने भी लोगों से अपील की कि वर्षा जल का संचयन करें तभी जल संकट से निजात मिल सकेगी। वार्ड पार्षद ने कहा कि नए घर के निर्माण के समय ही रेन वाटर हार्वेस्टिग सिस्टम लगा लें। इससे जुर्माना से भी मुक्ति मिलेगी। रेन वाटर हार्वेस्टिग नहीं लगाने पर नगर परिषद जुर्माना की कार्रवाई कर सकती है। वार्ड पार्षद ने लोगों से कहा कि जागरुक होकर वर्षा जल को बचाया जा सकता है। घर के बाहर, कुआं और चापाकल के निकट शॉकपिट का निर्माण करें। जल संसद कार्यक्रम में संजय सरकार, सीता देवी, वंदना देवी, रेणु देवी, गोविद मंडल, तपन साहा, सनातन मंडल, कुसुम देवी, राजेश मंडल, प्रकाश सरकार, धीरेन माल, विकास सरकार, काजल रक्षित, अशोक श्रीवास्तव, सविता देवी आदि शामिल हुए।

घर-घर जाकर दें जल संचय का संदेश :

वार्ड पार्षद रुपाली सरकार व उनके पति संजय सरकार ने जल संसद कार्यक्रम संपन्न होने के बाद घर-घर जाकर जल संचय का संदेश दिया। आग्रह किया कि घर में शॉकपिट बनाएं या रेन वाटर हार्वेस्टिग सिस्टम लगाएं। इससे भू जल स्तर में बढ़ोतरी होगी। भविष्य में जल संकट से जूझना नहीं पड़ेगा। कई लोगों ने घर के बाहर, कुआं व चापाकल के निकट शॉकपिट बनवाने की बात कही।

रेन वाटर हार्वेस्टिग लगाने का लिया संकल्प

कुर्थीपाड़ा के छह लोगों ने इसी वर्ष रेन वाटर हार्वेस्टिग लगाने का संकल्प लिया है। इसमें सीता देवी, वंदना देवी, रेणु देवी, गोविद मंडल, तपन साहा व अशोक श्रीवास्तव हैं। सीता, वंदना आदि ने कहा कि वह अपने आसपास के लोगों को भी वर्षा जल संचय के लिए जागरूक करेगी।

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran