पाकुड़ : महेशपुर थाना क्षेत्र के दमदमा मोड़ के पास एक दिसंबर को चाय दुकान में दमदमा निवासी नेकबुल शेख पर हुए हमले ने नया मोड़ ले लिया है। पुलिस ने घटना के चार दिन बाद दमदमा गांव निवासी नंदो राजवंशी, महाल शेख और चौकीदार असीम राजवंशी के खिलाफ मामला दर्ज किया। इलाके में चर्चा है कि चौकीदार ने पुलिसिया रौब दिखाकर नेकबुल पर हमला करवाया। चौकीदार के इशारे पर महाल शेख ने नेकबुल पर पिस्तौल तान दिया था। इसके बाद चाकू घोंप कर नेकबुल को जख्मी कर दिया। यह संयोग ही था कि गोली चलाई पर मिस फायर हो गया। नेकबुल का इलाज बंगाल के एक अस्पताल में चल रही है।

इस मामले में पुलिस की भूमिका भी संदिग्ध है। चर्चा है कि पुलिस चौकीदार को बचाने की कोशिश में है। सूत्रों की मानें तो चौकीदार घटना के बाद लगातार थानेदार के संपर्क में था। यही कारण है कि पुलिस ने चार दिन बाद मामला दर्ज किया है। यही वजह है कि पुलिस ने पीड़ित के परिजन को यह आश्वासन दिया कि पहले नेकबुल की जान बचाओ। इलाज का खर्च दिलवा देंगे। वादी नेकबुल ने इस संबंध में पुलिस अधीक्षक समेत राजकीय मानवाधिकार आयोग के अध्यक्ष, डीआइजी, डीजीपी से लिखित शिकायत की है। पुलिस अभी तक आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए कदम नहीं बढ़ाई है। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि पुलिस चाकूबाजी मामले में कितनी गंभीर है।

पुलिस का कहना है कि अनुसंधान के बाद ही गिरफ्तारी की कार्रवाई होगी। इसके पहले कुछ भी नहीं किया जा सकता है। यानि पुलिस चाकूबाजी के मामले को हल्के में ले रही है। इधर, नेकबुल का इलाज बंगाल में चल रहा है। उनकी हालत ठीक नहीं है।

-------------

क्या था मामला

एक दिसंबर रविवार को नेकबुल दमदमा चौक के पास चाय दुकान में चाय पी रहा था। तभी नंदो राजवंशी, महाल शेख बाइक में सवार होकर वहां आए। चौकीदार असीम राजवंशी ने दोनों को चाय दुकान की ओर इशारा किया। दोनों नेकबुल को चाय दुकान से बाहर बुलाया। बाहर निकलते ही दोनों ने गाली-गलौज करते हुए मारपीट शुरू कर दी। महाल शेख ने कमर से देशी कट्टा निकाल कर फायर कर दिया। पिस्तौल से गोली नहीं निकलकर मिस फायर हो गया। नेकबुल भागने लगा। तभी चौकीदार असीम राजवंशी उसे पकड़ लिया। नंदो राजवंशी ने चाकू घोप दिया। बीच-बचाव करने आई नेकबुल की मां मुमताज बीबी का भी हाथ कट गया था। इसके बाद दोनों बाइक छोड़कर भाग निकले।

-------------

वर्जन..

इस मामले में चौकीदार पर भी प्राथमिकी दर्ज की गई है। अनुसंधान के बाद ही आगे की कार्रवाई करेंगे। गिरफ्तारी भी अनुसंधान के बाद ही होगी।

उमाशंकर सिंह, थाना प्रभारी, महेशपुर

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस