मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

पाकुड़: राज्य सरकार ने जेएसएलपीएस द्वारा प्रोत्साहित महिला ग्राम संगठन के सदस्यों पर काफी भरोसा किया है। एक बड़ी जिम्मेवारी आप सबों को दी है, इसे काफी गंभीरता से लेना है। इसके पीछे का उद्देश्य खाद्य सामग्री की गुणवत्ता को बेहतर करना और महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाना है। यह बातें उपायुक्त कुलदीप चौधरी ने कहीं। वह शुक्रवार को सूचना भवन स्थित सभागार में टेक होम राशन एवं रेडी टू इट के लिए समूह दीदीयों की आयोजित जिला स्तरीय कार्यशाला को संबोधित कर रहे थे। इससे पूर्व उपायुक्त , उप विकास आयुक्त राम निवास यादव ने दीप प्रज्वलित कर कार्यशाला का शुभारंभ किया।

उपायुक्त ने महिला ग्राम संगठन की एसएचजी दीदीयों को अलग - अलग टीम गठित करने एवं कार्य की जवाबदेही तय करने को कहा। कहा कि एक टीम बाजार से सामग्री क्रय करने, दूसरी टीम उसे सुरक्षित संधारण करने, तीसरी टीम उसके निर्माण व चौथी टीम उसके वितरण के कार्यों का निष्पादन करेगी। उपायुक्त ने एसएचजी दीदीयों को ही दुकान संचालन की बात कहीं।

उपायुक्त ने कहा कि छोटी - बड़ी सभी चीजों पर ध्यान देना होगा। योजना के सफल क्रियान्वयन में आप सबों की काफी महत्वपूर्ण भूमिका है। उन्होंने इस दायित्व का निष्पादन स्वयं करने को कहा। कहा कि इसके लिए स्वयं को जागृत करना होगा। किस बच्चे को कितनी सामग्री और कौन - कौन सी देनी है इसे याद कर लेना होगा। उन्होंने जेएसएलपीएस के जिला समन्वयक को सामग्री की सूची सभी दीदीयों को उपलब्ध कराने का निर्देश दिया।

वहीं, कार्यशाला में दीदीयों को पावर प्वाइंट प्रेजेंटेशन के माध्यम से सामग्री क्रय करने, उसके संधारण, पैकेजिग व वितरण के सभी दायित्वों के संबंध में बताया गया। जेएसएलपीएस के जिला समन्वयक ने बताया कि सभी सामग्री भंडारण के लिए कमरों को चिह्नित कर लें। अगर कहीं कोई परेशानी होगी तो सरकारी विद्यालयों व पंचायत सचिवालयों में कमरा उपलब्ध कराया जाएगा। उन्होंने 18 तक इसकी जानकारी जिला को उपलब्ध कराने को कहा।

कपड़े का होगा पैकेजिग

कार्यशाला में बताया गया कि चार छोटे पैकेट और एक बड़ा पैकेट तैयार करना होगा। खाद्य सामग्री की पैकेजिग प्लास्टिक की नहीं होगी। सामग्री की पैकेजिग कपड़े के थैले में की जाएगी। इस बाबत आने वाले दिनों में जरूरी मार्ग दर्शन दिया जाएगा। एक अक्टूबर से पूरे राज्य में यह व्यवस्था शुरू होनी है। उल्लेखनीय हो कि राज्य सरकार ने अगले माह से आंगनबाड़ी केंद्रों में दिए जाने वाले टीएचआर व रेडी टू इट सामग्री को गांव की समूह दीदीयों द्वारा केंद्रों को उपलब्ध कराने का निर्णय लिया है। जिला समन्वय प्रवीण कुमार सहित प्रखंडों की सीडीपीओ, सहायक जनसंपर्क पदाधिकारी अविनाश कुमार सिंह, सभी प्रखंडों की महिला समूह की दीदीयां, महिला पर्यवेक्षिका व अन्य उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप