जागरण संवाददाता, पाकुड़ : स्वीकृत पद से अलग बहाल हुए किसी भी मनरेगा कर्मियों की नौकरी नहीं जाएगी। सभी कर्मियों का आउट सोर्सिंग के आधार पर समायोजन किया जाएगा। यह बातें ग्रामीण विकास मंत्री आलमगीर आलम ने बुधवार को पाकुड़ परिसदन में कही। उन्होंने कहा कि जिले में कई सड़कों का निर्माण शुरू होने वाला है। गंधाईपुर से जुड़ी सभी सड़कों का काम शुरू होगा। शैतानखाना से पाकुड़ धुलियान तक सड़क का निर्माण होना है। इसका विस्तार पुलिस लाइन तक करने की योजना है। इसलिए काम रूका हुआ है। बाइपास सड़क के मुद्दे पर मंत्री ने कहा कि पूजा के बाद यह काम भी शुरू होने वाला है।

परिसदन में मंत्री से मिलने के लिए मनरेगा के कंप्यूटर आपरेटर, जल सहिया समेत अन्य मिलने पहुंचे थे। मनरेगा कर्मियों ने मंत्री को बताया कि आठ माह से मानदेय का भुगतान नहीं किया गया है। इस मामले पर मंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने राशि जारी कर दी है। पूछे जाने पर उपायुक्त ने तत्काल उपविकास आयुक्त को फोन कर भुगतान सुनिश्चित कराने का आदेश दिया। मनरेगा कर्मियों को हटाने के मामले पर मंत्री आलम ने कहा कि सालों से लोग काम कर रहे हैं। अब उन्हें हटाना किसी भी सूरत में ठीक नहीं है। सभी कर्मियों को पूर्व के मानदेय पर समायोजन किया जाएगा। इधर, जल सहिया से मिलने के बाद मंत्री ने बताया कि उन्हें उनकी समस्याओं की जानकारी है। जल्द ही इसका समाधान किया जाएगा। इसके अलावे कई अन्य लोग ग्रामीण मंत्री के समक्ष अपनी समस्या लेकर पहुंचे थे।

Edited By: Gautam Ojha

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट