पाकुड़ : उप विकास आयुक्त रामनिवास यादव और आइटीडीए निदेशक डॉ. ताराचंद सोमवार की सुबह अचानक सोनाजोड़ी स्थित सदर अस्पताल पहुंचे। यहां अस्पताल की व्यवस्था देख डीडीसी ने नाराजगी जाहिर की। सिविल सर्जन डॉ. एसएन झा सहित ड्यूटी पर तैनात चिकित्सक को जमकर फटकार लगाई। व्यवस्था में सुधार लाने की चेतावनी दी। नीति आयोग द्वारा प्रदत्त फॉगिग मशीन के खराब रहने के कारण सिविल सर्जन की जमकर क्लास लगाई और फॉगिग मशीन को दुरुस्त करने का निर्देश दिया।

बता दें कि शहर व ग्रामीण इलाके में इनदिनों मच्छरों का प्रकोप बढ़ गया है। इससे मलेरिया मरीजों की संख्या में लगातार बढ रही है। इस मामले को लेकर डीडीसी गंभीर हैं। डीडीसी ने बताया कि नीति आयोग की ओर से अस्पताल प्रबंधन को दो-दो फॉगिग मशीन दिया गया था। परंतु एक दिन भी मशीन से छिड़काव कार्य नहीं हुआ। यह अस्पताल प्रबंधन की लापरवाही है। डीडीसी ने बताया कि जब फॉगिग मशीन के बारे में पूछा गया तो सीएस ने मशीन की बैटरी चोरी होने का हवाला दे दिया। डीडीसी ने बताया कि दो फॉगिग मशीन एक वर्ष पूर्व दिया गया था। बैटरी चोरी होने की जानकारी प्रशासन को नहीं है। डीडीसी ने तुरंत फॉगिग मशीन निकालवाया तो देखा कि देखरेख के अभाव में मशीन बेकार हो चुकी है। उन्होंने बताया कि सिविल सर्जन को फॉगिग मशीन तुरंत दुरुस्त कर छिड़काव कार्य करवाने का निर्देश दिया गया है। सिविल सर्जन डा. एसएन झा ने कहा कि फॉगिग मशीन को शीघ्र ही दुरुस्त करा लिया जाएगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस