पाकुड़ : सोनाजोड़ी स्थित सिविल सर्जन कार्यालय में शुक्रवार को मुख्यमंत्री गंभीर बीमार उपचार योजना समिति की बैठक हुई। अध्यक्षता सिविल सर्जन डॉ. बी मरांडी ने की। यहां 9 गंभीर मरीजों के आवेदन की जांच की गई। सदस्यों ने आठ मरीजों को मुख्यमंत्री गंभीर बीमारी उपचार योजना का लाभ देने का निर्णय लिया। कागजात के अभाव में धनुषपूजा की प्रिसा प्रतीक्षा के आवेदन पर विचार नहीं किया जा सका।

चिकित्सा परिषद के सदस्यों ने जयकिष्टोपुर निवासी मोहम्मद अकील अख्तर को 1.17 लाख, गंधाईनपुर गांव निवासी दाऊद शेख को 1.81 लाख, कुमारपुर निवासी आयशा बीबी को 2.50 लाख, बेलडांगा निवासी साईजुद्दीन शेख को 38.82 हजार, मोहम्मद रफी को 2.50 लाख, पृथ्वीनगर निवासी तमन्ना यासमीन 2.50 लाख, बड़तल्ला निवासी मन्नान मियां को 2.50 लाख, उदयनारायणपुर निवासी ताहसीना खातून को 2.04 लाख रुपये की स्वीकृति प्रदान की गई। सदस्यों ने चिकित्सा परिषद की विगत बैठक की समीक्षा की। साथ ही डेसन अस्पताल के विरुद्ध व्याप्त अनियमितता के विरोध में स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव से काली सूची में डालने के लिए पत्राचार करने का निर्णय लिया गया। इस मौके पर डॉ. रविश कुमार, डॉ. बीके ¨सह, डॉ. संजय कुमार झा, सामाजिक कार्यकर्ता हिसाबी राय एवं लिपिक विष्णु मालतो उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस