महेशपुर (पाकुड़) : अंबेदकर चौक स्थित गैस गोदाम के समीप मंगलवार की देर रात अज्ञात बोलेरो की चपेट में आने से दो मवेशी मर गए। मवेशी मालिक सिलमपुर गांव निवासी दोल गो¨वद घोष (40) गंभीर रूप से जख्मी हो गया। आक्रोशित ग्रामीणों ने मुआवजे की मांग को लेकर घंटों सड़क जाम कर दी। इससे आवागमन पूरी तरह से बाधित हो गया। अनुमंडलाधिकारी जीतेन्द्र कुमार देव, प्रखंड विकास पदाधिकारी उमेश मंडल, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी शशि प्रकाश ने जामस्थल पर पहुंच आंदोलनकारियों को समझाया। तब जाम हटा।

ग्रामीणों ने एसडीपीओ से शिकायत की कि घटना के बाद स्थानीय पुलिस नहीं आई। वरीय अधिकारियों के आने पर वह आई। कहा कि दोल गो¨वद घोष अपने दो मवेशियों (भैंस) को लेकर महेशपुर से अपने घर सिलमपुर जा रहा था। रास्ते में पाकुड़िया की तरफ से आ रही बोलेरो ने मालिक व मवेशियों को धक्का मार दिया। इससे दोनों मवेशियों की मौत हो गई। दोल गो¨वद को गंभीर चोट आई। उसे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया। वहां से चिकित्सक ने बंगाल रेफर कर दिया। इससे नाराज ग्रामीणों ने बुधवार की सुबह महेशपुर-पाकुड़िया पथ को जाम कर दिया। वहां पहुंचे अधिकारियों ने परिजनों को इलाज के लिए कुछ राशि दी। आश्वासन दिया कि सरकारी नियम के तहत मुआवजा दिया जाएगा। तब करीब एक बजे जाम हटाया गया। एसडीपीओ ने कहा कि स्थानीय पुलिस पदाधिकारी के घटनास्थल पर देर से पहुंचने का कारण पूछा जाएगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस