महेशपुर(पाकुड़): बांसलाई नदी से अवैध तरीके से हो रहे बालू उठाव पर रोक के लिए अंचल प्रशासन ने बालू घाट जाने वाले रास्ते को बंद कर दिया। इस कार्रवाई के दौरान अंचलाधिकारी रितेश जायसवाल, सहायक खनन पदाधिकारी सुरेश शर्मा, एसडीपीओ शशि प्रकाश मौजूद थे।

प्रशासन ने जेसीबी मशीन की मदद से अवैध बालू घाट जाने के रास्ते का काट दिया। ताकि बालू के अवैध उठाव पर रोक लग सके। सीओ ने बताया कि यदि बालू माफिया दुबारा मिट्टी भरकर रास्ता बनाते हैं तो ऐसे लोगों के खिलाफ प्रशासन सख्त कार्रवाई करेगी। अंचल निरीक्षक देवकांत सिंह को निर्देश दिया कि नदी किनारे स्थित अवैध ईंट भट्टा लगाने वालों की सूची और जमीन संबंधित आवश्यक कागजात जल्द जमा कराएं ताकि संबंधित व्यक्ति के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जा सके। बता दें कि प्रशासन ने यह कार्रवाई बांसलोई नदी से जेसीबी मशीन की मदद से बालू उठाव की सूचना मिलने के बाद की है।

-------

बालू माफिया बांसलाई नदी का जमकर कर रहे दोहन

महेशपुर : महेशपुर प्रखंड के बालू घाटों पर माफिया अवैध तरीेके से जमकर नदियों का दोहन कर रहे है। इनका हौसला इस कदर बढ़ गया है कि वे अब दिन के उजाले में भी जेसीबी से नदियों से बालू का उठाव कर रहे हैं। महेशपुर के रोलाग्राम के बालू घाट पर खुले आम जेसीबी मशीन की मदद से बालू उठाकर ट्रैक्टर पर लोड किया गया। यहां बालू का पूरा अवैध खेल कथित रूप से स्थानीय प्रशासन व पुलिस के संरक्षण में चल रहा है। इन घाटों से प्रतिदिन दो सौ से अधिक ट्रैक्टर बालू का अवैध तरीके से उठाव होता है।

----------

वर्जन

नदियों से अवैध तरीके से बालू उठाव गैर कानूनी है। जेसीवी मशीन से बालू का उठाव किया जा रहा है तो यह अपराध है। ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

सुरेश शर्मा, सहायक खनन पदाधिकारी, पाकुड़

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप